नदी में हो रहा रेत का अवैध उत्खनन, कीमती पत्थरों पर भी माफिया की नजर

0
58

दमोह(म.प्र.) । जिले भर की नदियों से अवैध तरीके से रेत निकासी का खेल जमकर चल रहा है जिस पर विभागीय कार्यवाई न होने से माफिया के हौसले बुलंद है। नया मामला दमोह जिले के बटियागढ़ ब्लाक से निकली जुड़ी नदी में सामने आया है, जहां धड़ल्ले से रेत और पत्थर का खनन हो रहा है। राजस्व अधिकारी कार्यालय के चंद कदम दूरी से जुड़ी नदी निकली है और अधिकारियों की नजर यहां नहीं पहुंच रही। दिनदहाड़े यहां जमीन को खोखला करने में लोग जुट गए हैं, यदि ऐसे ही जमीन से पत्थर का कारोबार चलता रहा तो निश्चित ही कुछ दिनों में नदी का अस्तित्व समाप्त हो सकता है और बड़े-बड़े गड्ढे दिखाई देने लगेंगे।

स्थानीय प्रशासन और खनिज विभाग के द्वारा इस ओर कार्यवाई नहीं की जाती।लोगों का कहना है कि अवैध कारोबारियों के द्वारा रेत उत्खनन का कार्य जोर शोर से किया जा रहा है और ऊंचे दामों पर खुलेआम बेच रहे हैं। अवैध गौण उत्खनन परिवहन का कार्य जोरों से चल रहा है। शासन प्रशासन को लाखों रुपये के राजस्व का नुकसान हो रहा है।

बटियागढ़ तहसील के आसपास के नदी, नालों से आधी रात को अवैध गौण खनिज उत्खनन किया जा रहा है। खनिज विभाग सहित संबंधित विभाग के द्वारा कार्यवाही न करने की वजह से माफियाओं के हौसले बुलंद हो गए हैं और यही कारण है कि रेत की कीमत काफी अधिक हो गई है। बटियागढ़ तहसील की जुड़ी, सुनार नदी के किनारे से रेत का उत्खनन हो रहा है। रेत माफिया द्वारा इन नदी के घाटों से बड़े पैमाने पर अवैध उत्खन कर रहे हैं और बिना रायल्टी पर्ची के ही रेत का अवैध उत्खनन कर ऊंचे दाम पर बेच रहे हैं। इसके बाद भी खनिज विभाग ने अवैध रूप से रेत उत्खनन करने वालों के खिलाफ कड़ी कार्यवाही नहीं की।