विदेश जाने की चाह रखने वालों के लिए खुशखबरी,28 दिन बाद लगवा सकते कोविडशील्ड

0
210

कोविड-19 के दौर में जहां एक ओर लॉकडाउन ने कुछ हद तक कोरोना पर काबू पाया है वहीं दूसरी ओर सरकार द्वारा दी जाने वाली वैक्सीन ने इस स्थिति को नियंत्रण में किया है। कोरोना के टीके लगने के बाद से ही देश में पॉजिटिविटी रेट काफी कम आने लगा है देश के अधिकतर स्थानों में इसके नियंत्रण की खबरें देख सकते हैं। इसका मतलब यह है कि देश में लगने वाली वैक्सीन से आज कोरोना पर काबू पाना संभव हो पाया है। इसी वैक्सीन को लेकर केन्द्र सरकार ने एक नया फरमान जारी किया है।

जी हां विदेश यात्रा पर जाने वाले लोगों को केन्द्र सरकार ने एक तरह से तोहफा ही दिया गया है। दरअसल जो लोग विदेश जाना चाहते हैं वे कोविशील्ड की दूसरी डोज 28 दिन के बाद लगवा सकते हैं, जिसे लेकर केन्द्र सरकार ने वैक्सीन के लिए एक नई गाइडलाइन जारी की है। जिसमें कहा गया है कि अगर कोई व्यक्ति ने वैक्सीन की पहली खुराक ले ली है और वह विदेश जाना चाहता है तो वह सिर्फ 28 दिन के बाद ही वे इसकी दूसरी खुराक ले सकता है। वहीं पहले केन्द्र ने कोविशील्ड के लिए पहली डोज और दूसरी डोज के बीच 12 से 16 हफ्ते का अंतर रखा है।

सरकार द्वारा जारी की गई नई गाइडलाइन में कहा गया है कि विदेश यात्रा के लिए सिर्फ कोविशील्ड वालों को ही वैक्सिनेशन सर्टिफिकेट दिया जाएगा। जिस पर पासपोर्ट नम्बर का भी जिक्र किया जाएगा। क्योंकि भारत की दूसरी वैक्सीन कोवैक्सिन इसके लिए क्वालीफाई नहीं कर रही है। गाइडलाइन के अनुसार 18 साल से ज्यादा उम्र के लोग ही इसका फायदा ले सकते हैं और जो 31 अगस्त तक विदेश यात्रा पर जाना चाहते हैं। अथॉरिटी दिखाते हुए कि पहली डोज को लगे हुए 28 दिन हुए भी हैं या नही जल्द ही इस कैटेगरी में विदेश जाने वालों के लिए ये खास व्यवस्था कोविड प्लेटफार्म पर भी दिखाई देगी।

विदेश जाने के लिए तैयार वह सभी लोग जैसे पढ़ाई के लिए विदेश जा रहे हैं, नौकरी के लिए विदेश जा रहे हैं या तोक्यो ओलिंपिक्स गेम्स में शामिल खिलाड़ी और उनके साथ जाने वाला स्टाफ भी इस गाइडलाइन के अनुसार वैक्सीन का डोज लगवाने के लिए पात्रता रखता है। फिर से आपको बतादें कि वैसे तो कोविशील्ड की दो डोज के बीच 12 से 16 हफ्ते का गैप रखने का नियम बनाया गया है लेकिन विदेश जाने वालों को नए नियम के अनुसार जल्द ही दूसरी डोज दी जा सकती है।