रायपुर के मतदाताओं की भूमिका होगी निर्णायक, फिर भिलाई दुर्ग का नंबर

0
61

रायपुर।  छत्तीसगढ़ चेंबर आफ कामर्स का चुनावी संग्राम और तेज हो गया है। व्यापारिक सूत्रों का कहना है कि इस बार के चुनाव में रायपुर के मतदाताओं की भूमिका निर्णायक साबित होगी। इसके बाद भिलाई-दुर्ग का नंबर आएगा। इन तीनों क्षेत्रों को ही मिलाकर मतदान का प्रतिशत करीब 53 फीसद से अधिक हो जाता है।

चेंबर चुनाव में इस साल 16215 मतदाता हैं और इन तीनों क्षेत्र मिलाकर ही मतदाताओं की संख्या नौ हजार के करीब हो जाती है। जय व्यापार पैनल के अध्यक्ष अमर पारवानी का कहना है कि व्यापारियों को ऐसे नेता का चुनाव करना चाहिए,जो केवल व्यापारी हित के काम करें और हमेशा उनके साथ रहे। बीते छह सालों में प्रदेश का व्यापारी वर्ग यह समझ गया है कि कौन है जो हमेशा उनके साथ रहता है।

इसलिए उन्हें अपने प्रचार के दौरान व्यापारियोंका जबरदस्त समर्थन मिल रहा है। पिछले दिनों भारत बंद में व्यापारियों ने इसका स्पष्ट संकेत दे दिया है। दूसरी व्यापारी एकता पैनल के अध्यक्ष योगेश अग्रवाल का कहना है कि उनका पैनल केवल व्यापारी हित का ही ध्यान रख रहा है। पैनल का उद्देश्य ही है कि व्यापार हित करना।

शुरू हुआ आरोप-प्रत्यारोप का दौर

व्यापारिक पैनलों में अब आरोप-प्रत्यारोप का दौर भी शुरू हो गया है। साथ ही यह कोशिश की जा रही है कि अधिक से अधिक संख्या में व्यापारियों का समर्थन हासिल हो सके। इसके लिए जबरदस्त रूप से चुनावी प्रचार किया जा रहा है।

11 से 20 मार्च तक होना है चुनाव

चेंबर चुनाव 11 मार्च से लेकर 20 मार्च तक होना है और इसके बाद 21 मार्च को मतगणना रायपुर में ही होगी। यह पहला मौका होगा कि जब रायपुर के साथ बाहरी क्षेत्रों में भी चुनाव हो रहे हैं।