साइबर अपराध चुनौती, विवेचना का स्तर बढ़ाएं अफसर:एसएसपी अजय यादव

0
125

रायपुर । राजधानी में साइबर अपराध के बढ़ते मामले को ध्यान में रखकर विवेचक, मुंशी समेत अन्य पुलिस कर्मचारियों को साइबर अपराध से जुड़े मामलों की जानकारी देने के लिए दो दिवसीय कार्यशाला का आयोजन एडिशनल एसपी ट्रैफिक के दफ्तर के कांफ्रेंस हाल में किया गया।

एसएसपी अजय कुमार यादव ने कहा कि देशभर में साइबर अपराध का बढ़ता ग्राफ चुनौती बन गया है। शातिर अपराधी नए-नए तरीके से लोगों को झांसे में लेकर ठगी का शिकार बना रहे हैं। इन शातिरों को गिरफ्त में लेने के लिए पुलिस अधिकारियों, कर्मचारियों को विवेचना का स्तर बढ़ाना होगा। पुलिस थानों में आने वाली शिकायतों को नजरअंदाज न करें। हरेक शिकायत पर त्वरित कार्रवाई कर साइबर सेल की मदद लेकर पीड़ित को राहत पहुंचाएं।

कार्यशाला के समापन अवसर पर एचडीएफसी बैंक के अधिकारियों, पुलिस के राजपत्रित अधिकारियों, थाना स्टाप को साइबर अपराधों की रोकथाम, सुरक्षा, बचाव एवं साइबर संबंधी अपराधों की विवेचना के बारे में विस्तृत जानकारी दी गई। कार्यशाला को संबोधित करते हुए एसएसपी यादव ने कहा कि वर्तमान समय में तेजी से पैर पसार रहे साइबर अपराध, आन लाइन फ्राड एवं सोशल मीड़िया से संबंधित अपराधों की रोकथाम करना पुलिस के लिए बड़ी चुनौती है। लोगों को ठगी से बचाने के लिए जागरूक करने की आवश्यकता है। साइबर अपराध की विवेचना किस तरह से करने से अज्ञात आरोपित तक पहुंचा जा सकता है, इसके लिए हाइटेक ज्ञान बेहद जरूरी है। विवेचना में किसी भी प्रकार की परेशानी होने पर साइबर सेल के अधिकारी-कर्मचारियों का सहयोग लेकर त्वरित निराकरण करें। इस मौके पर साइबर सेल प्रभारी आरके साहू समेत उनकी टीम ने अलग-अलग तरीके से हो रहे साइबर अपराध के बारे में उपस्थित अधिकारियों को जानकारी दी और इससे बचने के उपाय भी सुझाए।

संगवारी अभियान से जागरूक

रायपुर पुलिस द्वारा साइबर अपराध को लेकर लोगों को जागरूक करने के लिए चलाए जा रहे साइबर संगवारी अभियान में आम लोगों को इंटरनेट मीडिया फेसबुक, वाट्सएप, ट्विटर एवं अन्य एप का उपयोग, आनलाइन वायलेट पेटीएम, भीम, गूगल-पे और एटीएम कार्ड आदि के सावधानी पूर्वक इस्तेमाल की जानकारी दी जा रही है। यही नहीं, लोगों को फ्राड काल से बचने की अपील की जा रही है, ताकि साइबर अपराध पर नियंत्रण पाया जा सके।