Corona के नए वेरिएंट की वजह से भारतीय शेयर बाजार में हाहाकार ; Sensex में 1600 अंक और Nifty में 500 अंक से ज्यादा की गिरावट

0
39

आज शेयर बाजार में भारी गिरावट आई। कोरोना वायरस का एक नया वैरिएंट से पूरी दुनिया में खलबली मच गई है, जिसकी वजह से बाजार में भारी गिरावट आई और निवेशकों को नुकसान हुआ। सप्ताह के आखिरी कारोबारी दिन बिकवाली से सेंसेक्स 1687.94 अंकों (2.87 फीसदी) की भारी गिरावट के साथ 57,107.15 पर बंद हुआ। निफ्टी की बात करें, तो यह 509.80 अंक यानी 2.91 फीसदी लुढ़का और 17,026.45 के स्तर पर बंद हुआ।

निवेशकों के डूबे 7.5 लाख करोड़ रुपये

इससे निवेशकों को 7.5 लाख करोड़ रुपये का नुकसान हुआ। शुरुआती कारोबार में बॉम्बे स्टॉक एक्सचेंज (BSE) का सेंसेक्स 722.43 अंक (1.23 फीसदी) नीचे 58,072.66 पर खुला था। वहीं एनएसई का निफ्टी 223.90 अंकों या 1.28 फीसदी की गिरावट के साथ 17,312.40 पर खुला था।

ऐसा रहा दिग्गज शेयरों का हाल

दिग्गज कंपनियों की बात करें, तो बीएसई पर डॉक्टर रेड्डी, नेश्ले इंडिया और टीसीएस के शेयर हरे निशान पर बंद हुए। वहीं एशियन पेंट्स, हिंदुस्तान यूनिलीवर, पावर ग्रिड, एचसीएल टेक, सन फार्मा, बजाज ऑटो, इंफोसिस, एचडीएफसी बैंक, टेक महिंद्रा, एक्सिस बैंक, अल्ट्राटेक सीमेंट, आईटीसी, रिलायंस, कोटक बैंक, भारती एयरटेल, आईसीआईसीआई बैंक, एल एंड टी, बजाज फिनसर्व, एसबीआई, एम एंड एम, टाइटन, एचडीएफसी, बजाज फाइनेंस, एनटीपीसी, टाटा स्टील, मारुति और इंडसइंड बैंक के शेयर लाल निशान पर बंद हुए।

सिर्फ फार्मा सेक्टर हरे निशान पर हुआ बंद

फार्मा के अतिरिक्त सभी सेक्टर्स लाल निशान पर बंद हुए। इनमें बैंक, ऑटो, फाइनेंस सर्विस, एफएमसीजी, आईटी, मीडिया, मेटल, पीएसयू बैंक, प्राइवेट बैंक और रियल्टी शामिल हैं। फार्मा में 1.70 फीसदी की तेजी आई। कोरोना वायरस महामारी ने एक बार फिर से ट्रेड और ट्रैवल में रुकावट आने की चिंताएं बढ़ा दी हैं। इसने निवेशकों को झटका दिया और एशियाई मार्केट में गिरावट आई।

Curtsey – Twitter