नरवा-गरवा-घुरवा योजना: बिलासपुर को रिवाइवल ऑफ रिवर कैटेगरी अवार्ड

0
65

बिलासपुर।बिलासपुर छत्तीसगढ़ रिवाइवल ऑफ रिवर कैटेगरी (नदी-नालों के पुनरोद्धार) में देश के उत्कृष्ट जिलों में फर्स्ट आया है।भारत सरकार के जलशक्ति मंत्रालय ने बेस्ट डिस्ट्रिक्ट नेशनल वाटर अवार्ड के लिए बिलासपुर का चयन किया है।जिले में दो वर्ष में 1146.90 किलोमीटर नदी नालों को पुनर्जीवित कर ये उपलब्धि हासिल की गयी है।

दरअसल, सरकार के विभिन्न जल संरक्षण की योजनाओं के तहत जल संसाधन विभाग ने जिले के अलग-अलग नदियों एवं नालों में 47 स्ट्रक्चर्स का निर्माण और 17.508 मिलियन घन मीटर जल भराव क्षमता का सृजन किया है।इसके जरिये 152 किलोमीटर लंबाई तक नदियों और नालों में जलभराव किया जा रहा है। जिले में प्रवाहित होने वाली 13 मुख्य नदियों और नालों व स्थानीय नालों की लंबाई 2352. 56 किलोमीटर है। इसमें जल संसाधन विभाग ने एक वृहद, एक मध्यम व 165 लघु जलाशय और 117 एनीकट का निर्माण किया है. इसके साथ ही जिले में 49 लघु जलाशय योजना भी निर्माणाधीन है।जिनसे 48.53 मिलियन घन मीटर जल भराव क्षमता विकसित होगी. इससे 181 किलोमीटर लंबी नदी एवं नालों में जलभराव होगा।

केंद्रीय जल आयोग की टीम ने जनवरी 2019 व जल शक्ति मंत्रालय की टीम ने मार्च 2019 में जिले का भ्रमण कर निरीक्षण किया था।इन दोनों दलों के रिपोर्ट के आधार पर जल शक्ति मंत्रालय भारत सरकार ने रिवाइवल ऑफ रिवर कैटेगरी में बिलासपुर जिले को बेस्ट डिस्ट्रिक्ट नेशनल वाटर अवार्ड दिया है।यह अवॉर्ड नवंबर में प्रदान करना प्रस्तावित है।जिले को मिली इस उपलब्धि को लेकर बिलासपुर कलेक्टर डॉ सारांश मित्तर का कहना है, सरकार के विभिन्न योजनाओं और निर्देशों पर नदी नालों के संरक्षण का काम किया जा रहा है। एक-एक बूंद जल के संरक्षण के कोशिश का परिणाम है, बिलासपुर को ये उपलब्धि हासिल हुई है।