राजधानी वासी ऑनलाइन पटा सकेंगे टैक्स, यूनिक आईडी घर-घर बांटेगा निगम

0
319

रायपुर। राजधानी वासियों के लिए राहत भरी खबर है। राजधानी वासियों को अब टैक्स चुकाने के लिए निगम कार्यालय के चक्कर नहीं लगाने पड़ेंगे क्योंकि नगर निगम घर-घर विवरणी बांटने की तैयारी कर रहा है। विवरणी में मकान का क्षेत्रफल, आगामी वर्ष का टैक्स और यूनिक आइडी लिखी रहेगी। यूनिक आइडी मिलने से भवन स्वामी आनलाइन घर बैठे टैक्स पटा सकेंगे।

वर्तमान में यूनिक आइडी नहीं होने से भवन स्वामियों को टैक्स पटाने के लिए काफी दिक्कतों का सामना करना पड़ता था। निगम इसके लिए तैयारी पूरी कर ली है। निगम की टीम जल्द ही विवरणी बांटने का काम का शुरू करेगी। निगम के अधिकारी का कहना है कि विवरणी बांटने का काम निगम के सहायक राजस्व निरीक्षकों को सौंपा गया है।

ज्ञात हो कि राजधानी में जीआइएस सर्वे के मुताबिक, राजधानी में कुल 15 लाख आबादी है। वर्तमान में सवा तीन लाख घर हैं। वर्तमान में नगर निगम की टीम घर-घर जाकर टैक्स वसूली करता है तो कुछ भवन स्वामी निगम कार्यालय में जाकर टैक्स पटाने का काम करते हैं, लेकिन इस साल निगम के अंतर्गत आने वाले प्रत्येक घर जाकर विवरणी बांटेगा। विवरणी में मकान का साइज कितना है।

मकान के साइज के हिसाब से टैक्स की राशि और यूनिक नंबर लिखा रहेगा। विवरणी में यदि किसी को आपत्ति है तो वह निगम में आपत्ति दर्ज करा सकता है। आपत्ति दर्ज कराने के बाद निगम के कर्मचारी जाकर घर की नाप जोख कर सुधार कार्य करेंगे। सुधार कार्य के बाद भवन स्वामी ऑनलाइन या फिर निगम मुख्यालय जाकर टैक्स जमा कर सकता है। विवरणी बांटने के लिए निगम के सौ सहायक राजस्व निरीक्षक की ड्यूटी लगाई गई है।

50 हजार भवन स्वामी नहीं जमा कर रहे टैक्स

निगम से मिली जानकारी के मुताबिक राजधानी में सवा तीन लाख घर हैं जिसमें वर्तमान में 50 हजार भवन स्वामी टैक्स नहीं पटा रहे हैं। ऐसे भवन स्वामियों से टैक्स वसूली करने के लिए निगम के पसीने छूट रहे हैं। विवरणी बांटने के बाद भी यदि ऐसे भवन स्वामी टैक्स नहीं पटाते हैं तो इनके खिलाफ निगम कार्यवाई करने का दावा कर रहा है।

पिछले तीन साल में निगम ने वसूला टैक्स

रायपुर नगर निगम को साल 2019 में 132 करोड़ नौ लाख 54 हजार रुपये का लक्ष्य मिला था जिसमें निगम ने 134 करोड़ 97 लाख 28 हजार रुपये, वर्ष 2020 में निगम को लक्ष्य 131 करोड़ 15 लाख 84 हजार रुपये का लक्ष्य मिला था निगम ने 139 करोड़ 38 लाख रुपये वसूली की थी। वर्ष 2021 में कोरोना संक्रमण काल के दौरान निगम को 131 करोड़ 82 लाख रुपये का लक्ष्य मिला था। निगम ने इस बार 160 करोड़ एक लाख रुपये के राजस्व की वसूली की है। निगम कुल 121.39 प्रतिशत अधिक वसूली की है।

रायपुर नगर निगम के अपर आयुक्त पुलक भट्टाचार्य ने जानकारी देते हुए कहा कि राजधानी में राजस्व वसूली को लेकर विवरणी बांटने की तैयारी की जा रही है। विवरणी में यूनिक आइडी, टैक्स और मकान का क्षेत्रफल अंकित रहेगा। जिससे भवन स्वामी आनलाइन टैक्स पटा सकेंगे।