रायपुर जिले में 85% लायसेंसधारी विक्रेताओं के परिसरों का किया निरीक्षण, कुछ के लाइसेंस रद्द

0
71

रायपुर। रायपुर जिले में कृषि विभाग द्वारा ‘फ्लाइंग स्काॅट’ टीम का गठन कर बीज, उर्वरक एवं कीटनाशक विक्रेताओं के परिसर का सतत निरीक्षण किया जा रहा है। इसके साथ ही जांच के लिए नमूने भी लिए जा रहे हैं। उप संचालक कृषि रायपुर ने बताया कि अभी तक जिले में 85 प्रतिशत लायसेंसधारी विक्रेताओं के विक्रय परिसरों का निरीक्षण कर लिया गया है।

निरीक्षण में पाई गई कमी और त्रुटि के कारण सभी विक्रेताओं को नोटिस जारी करते हुए समय-सीमा में स्पष्टीकरण भी मांगा गया है। उनके द्वारा प्रस्तुत स्पष्टीकरण का अवलोकन करने पर जिनका जवाब असंतोषप्रद पाया गया उनका स्पष्टीकरण अमान्य करते हुए तीन बीज विक्रेताओं के, तीन कीटनाशक विक्रेताओं के एवं एक उर्वरक विक्रेता के अनुज्ञा को 15-15 दिवस के लिए निलंबित किया गया है।

इसके साथ ही एक विक्रेता के विक्रय परिसर पर उर्वरक विक्रय प्रतिबंध की कार्यवाही की गई तथा 40 लायसेंसधारी विक्रेताओं को भविष्य के लिए चेतावनी नोटिस जारी किया गया। निरीक्षण दल में उप संचालक कृषि आरके कश्यप, अनुविभागीय कृषि अधिकारी दीपक कुमार नायक, सहायक संचालक कृषि एमडी ओझा, ममता पाटिल, वरिष्ठ कृषि विकास अधिकारी आरके साहू एवं कृषि विकास अधिकारी दिलीप कुमार शर्मा उपस्थित थे।

विभाग द्वारा खरीफ वर्ष 2021-22 के प्रारंभ से ही बीज, उर्वरक, कीटनाशक विक्रेताओं के परिसर के सतत निरीक्षण करने एवं नमूने लिए जाने के लिये योजनाबद्ध रूप से कार्य किया जा रहा है। निरीक्षण के दौरान पीओएस मशीन से वितरण कराना एवं स्कंध का मिलान कराना जैसे महत्वपूर्ण कार्यों को प्राथमिकता के आधार पर सम्पन्न कराया जा रहा है।