परफॉर्मेंस से खुश नहीं पुरंदेश्वरी, संगठन को आक्रमक होने की नसीहत

0
144

रायपुर ।  छत्तीसगढ़ की भाजपा प्रदेश प्रभारी डी पुरंदेश्वरी संगठन और विधायकों के कामकाज से खुश नजर नहीं आ रही हैं। सोमवार को पुरंदेश्वरी ने प्रदेश महामंत्री और संगठन महामंत्री के साथ एक बार फिर बैठक की। इस बैठक में सभी मोर्चा-प्रकोष्ठ के कामकाज की रिपोर्ट पर मंथन किया।

विधायकों के विधानसभा में परफार्मेंस की रिपोर्ट भी पुरंदेश्वरी ने देखी। भाजपा के उच्च पदस्थ सूत्रों की मानें तो पुरंदेश्वरी ने दो टूक कहा है कि संगठन में बूथ स्तर के कार्यकर्ताओं को दोगुनी ताकत से सक्रिय करने की जरूरत है, तभी प्रदेश में बदलाव आएगा। उन्होंने निर्देश दिया कि सरकार की एक-एक योजना की समीक्षा की जाए और जो भी कमियां नजर आए, उसे पूरी ताकत से उठाएं।

सरकार के विरोध में आपसी खींचतान को किनारे करके सभी एकजुट होकर काम करें। बस्तर से सरगुजा तक स्थानीय स्तर के मुद्दों को उठाएं और विरोध को अंजाम तक पहुंचाएं। पुरंदेश्वरी ने कहा कि आपदा को अवसर में बदलने की जरूरत है। पार्टी के कार्यकर्ताओं को कोरोना वैक्सीन स्थल पर तैनात किया जाए। वहां लोगों की मदद के लिए कार्यकर्ताओं को आगे आना होगा।

सेंटर पर पानी की व्यवस्था से लेकर बुजुर्गों को लाने-ले जाने की व्यवस्था करनी चाहिए। इससे जनता के बीच भाजपा संगठन के प्रति भरोसा जगेगा। कोरोना टीकाकरण के प्रति राज्य सरकार की खामियों को उजागर करें और प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और केंद्र सरकार की ओर से किए जा रहे प्रयासों की जानकारी जनता को दें। पुरंदेश्वरी ने इंटरनेट मीडिया में भी पार्टी पदाधिकारियों को सक्रिय होने का निर्देश दिया। उन्होंने कहा कि समाज की प्रमुख हस्तियों के कोरोना टीकाकरण की तस्वीर के साथ पार्टी का संदेश भेजें। इससे एक बड़ा बदलाव आएगा।

बचे पदों पर तत्काल नियुक्ति के निर्देश

पुरंदेश्वरी ने युवा मोर्चा के बचे पदों पर तत्काल नियुक्ति के निर्देश दिए। उन्होंने कहा कि वरिष्ठ नेताओं से चर्चा के बाद नियुक्ति की जाए। विवाद की स्थिति में नए नामों पर विचार किया जाए। प्रदेश के 11 जिलों में भाजयुमो के जिलाध्यक्षों की घोषणा नहीं हो पाई है। प्रदेश संगठन में भी पांच पदों पर नियुक्ति होनी है। रायपुर जिलाध्यक्ष के लिए सबसे ज्यादा विवाद की स्थिति है।

उत्कृष्ट विधायक चंदेल और सौरभ का किया सम्मान

पुरंदेश्वरी ने विधानसभा में उत्कृष्ट विधायक चुने गए नारायण चंदेल और सौरभ सिंह का सम्मान किया। उन्होंने विधायकों से कहा कि इसी सक्रियता के साथ काम करें और जनता के मुद्दों को सदन में उठाएं। पुरंदेश्वरी ने यह भी कहा कि जिस विधानसभा में भाजपा विधायक नहीं है, वहां भाजपा उम्मीदवार से फीडबैक लेकर स्थानीय मुद्दों पर भी सरकार को घेरे।

असम-बंगाल में प्रचार पर गए नेता कांफ्रेंस से जुड़े

असम और पश्चिम बंगाल में विधानसभा चुनाव प्रचार में उतरे पार्टी पदाधिकारी वीडियो कांफ्रेंस के माध्यम से पुरंदेश्वरी की बैठक से जुड़े। सोमवार को दोपहर तीन बजे प्रभारी पुरंदेश्वरी और प्रदेश महामंत्री संगठन पवन साय कोलकाता के लिए रवाना हो गए। पवन साय पिछले 15 दिन से पश्चिम बंगाल में डेरा डाले हुए हैं और बूथ स्तर के कार्यकर्ताओं से संवाद कर रहे हैं।