उद्योग के विस्तारीकरण के लिए सिलतरा में हुई जनसुनवाई,जनप्रतिनिधियों ने किया विरोध

0
209

रायपुर/सिलतरा । उरला सिलतरा क्षेत्र में कई उद्योग विस्तारीकरण में लगे हुए है । ऐसे में विस्तारीकरण क्षेत्र में जन सुनवाई जरुरी रहता है। एस.के. एस इस्पात कंपनी के विस्तरीकरण पर सिलतरा के पास स्थित सी.एस.आई.डी.सी के भवन में जनसुनवाई हुई। जनसुनवाई के पंचायतो के प्रतिनिधियों ने पंचायतो के विकास और मजदूरी जैसे कई मुद्दों पर विरोध दर्ज कराया ।सिलतरा क्षेत्र में एस.के.एस इंडस्ट्रीस के विस्तारीकरण के लिए पर्यावरण विभाग द्वारा जनसुनवाई का आयोजन किया गया । जनसुनवाई में पर्यावरण संरक्षण मंडल के अधिकारी के साथ रायपुर एडीएम और पुलिस विभाग के अधिकारी दल बल के साथ मौजूद रहे । जनसुनवाई के दौरान स्थानीय स्तर पर क्षेत्र के पंचायतो के जनप्रतिनिधियों के साथ धरसींवा विधायक अनीता शर्मा ने कंपनी और अधिकारियो को चेतावनी दी है कि पहली प्राथमिकता गाँवो के विकास और काम करने वालो की मजदूरी हो ।इस मुद्दे पर जनप्रतिनिधियों ने कंपनी के विस्तारीकरण का विरोध जताया साथ ही सीएसआर मद से कई वर्षो से पंचायतो में विकास कार्य नहीं होने की बात भी कही । स्थानीय विधायक ने भी कहा की उद्योग प्रबंधन और अधिकारी स्थानीय जनप्रतिनिधियों और ग्रामीणों की उपेक्षा ना करे बल्कि विकास के साथ काम करने वालो को बराबर मजदूरी और स्थानीय को रोजगार में प्राथमिकता दे ।

विधायक अनीता शर्मा ने कहा की वे उद्योग लगने के पक्ष में है पर क्षेत्र का विकास पहली प्राथमिकता है स्थानीय को रोजगार,उचित पारश्रमिक,और पंचायतो का विकास हो इस पर उद्योग प्रबंधन कार्य करे और अधिकारी भी केवल एकपक्षीय बात ना करे । जनता किसी की दुश्मन नहीं है पर्यावरण संरक्षण मंडल के अधिकारी तो आँख बंद कर बैठे है रात्रि में कभी आकर सिलतरा क्षेत्र में देखे की कितना धूल और प्रदुषण रहता है उन्होंने ये भी कहा की सरकार के नियमो का पालन हो और अधिकारी उनका पालन कराये इससे स्थानीय लोगो को रोजगार और क्षेत्र का विकास हो सकेगा । उद्योग के अंतर्गत आने वाले प्रभावित गाँवो के जनप्रतिनिधियों के साथ जनता ने भी स्थानीय लोगो को रोजगार के साथ कलेक्टर दरपर पारिश्रमिक देने की मांग जनसुनवाई में की है जिला पंचायत सदस्य राकेश ने कहा की इस क्षेत्र में एस के एस के द्वारा ना विकास किया गया और ना प्रदुषण कम किया गया क्षेत्र के लिए उनकी इंडस्ट्री बेकार है उनसे स्थानीय को कोई फायदा नहीं मिल पा रहा है परसतराई के सरपंच हेमंत वर्मा ने कहा की विस्तार का विरोध नहीं है पर सीएसआर के पैसे का उपयोग गाँवो के विकास में किया जाए, इस पर ध्यान देने की जरुरत है । ग्रामीण गोपी साहू ने कहा की उद्योग प्रबंधन केवल अपना फायदा ना देखे ग्रामीणों को विकास और रोजगार मिले इस परध्यान दे। इस सम्बन्ध में विधायक अनीता शर्मा विभागीय मंत्री और अधिकारियो से भी मुलाकात करेंगे