रायपुर में मनाया गया पुलिस स्मृति दिवस, राज्यपाल ने परेड की ली सलामी , मुख्यमंत्री भूपेश बघेल, गृहमंत्री ताम्रध्वज साहू ने शहीदों को दी श्रद्धांजलि

0
67

 

रायपुर। आज पूरे देश में पुलिस स्मृति दिवस मनाया जा रहा है। राजधानी में भी पुलिस स्मृति दिवस मनाया गया। पुलिस के जवानों ने अपने प्राणों की आहुति दे कर विपरीत परिस्थितियों में भी हर चुनौतियों का सामना बहादुरी से किया है आज का दिन उन वीर जवानों की शौर्य गाथा ओं की याद दिलाता है जिन्होंने मातृभूमि की रक्षा के लिए अपने प्राण न्योछावर कर दिए। इस अवसर पर राज्यपाल अनुसुइया उइके, मुख्यमंत्री भूपेश बघेल, गृह मंत्री ताम्रध्वज साहू सहित सभी आला अधिकारी उपस्थित रहे।शहीद जवानों को पुष्प चक्र अर्पित कर श्रद्धांजलि अर्पित की गई और उनके परिजनों से भी मुलाकात कर ढाढंस बढ़ाया। कार्यक्रम चौथी वाहिनी छत्तीसगढ़ सशस्त्र बल माना में आयोजित की गई।

राज्यपाल अनुसुइया उईके ने कहा पुलिस के जवानों ने अपने प्राणों की आहुति देकर सुरक्षित किया है। जिससे हम अपने घरों में चैन की नींद बात नहीं क्योंकि हमारी पुलिस रात रात भर जाकर पेट्रोलिंग करती हूं। साथ ही यह भी कहा कि ओवर्ट काल में देखा के कोरोनावायरस के खौफ के वातावरण के बावजूद हमारे पुलिस के जवान मोर्चे पर तैनात थे। कहां के हमारा प्रदेश नक्सल समस्या से जूझ रहा है।क्षेत्र में तैनात हमारे जवान बड़े ही सूझ बूझ और साहस के साथ नक्सलियों का सामना करते हैं। विकास की रोशनी वहां तक पहुंच सके और वे देश की मुख्यधारा से जुड़ सकें, इसके लिए शासन द्वारा अनेक जन हितेषी योजनाएं एवं कार्यक्रम चलाए जा रहे हैं।

मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने कहा कि पुलिस या विभिन्न सुरक्षा बलों में तैनात जवान स्वयं की जान की परवाह किए बिना जनता और देश की हिफाजत के लिए समर्पित होते हैं। हमारी सरकार ने सुरक्षाबलों के कार्यों को सर्वोच्च महत्वता देते हुए उनके लिए राहत और कल्याण के पदम सर्वोच्च प्राथमिकता से उठाए हैं।रक्षाबंधन अपने कर्तव्य के निर्वहन के दौरान सर्वोच्च बलिदान दिया है ।उन पर पूरे देश को गर्व।