Delhi और Mumbai मैं धमाकों की नापाक साजिश नाकाम, प्लानिंग में था दाऊद के भाई का हाथ

0
136

नई दिल्ली: दिल्ली पुलिस की स्पेशल सेल (Delhi Police Special Cell) द्वारा गिरफ्तार किए गए 6 में से 4 संदिग्ध आतंकियों को रात में कोर्ट में पेश किया. कोर्ट ने चारों को 14 दिन की पुलिस रिमांड में भेज दिया है. कोर्ट ने जान मोहम्मद शेख, ओसामा, मूलचंद, मोहम्मद अबू बकर को 14 दिन की पुलिस रिमांड में भेज दिया है. दो अन्य को दिल्ली पुलिस आज दोपहर कोर्ट में पेश करेगी.

पाक की नापाक साजिश नाकाम

बता दें कि देश में आतंकी हमले के लिए पाकिस्तान से एक बहुत बड़ी साजिश को अंजाम दिया जा रहा था. लेकिन समय रहते दिल्ली पुलिस और यूपी एटीएस ने मिलकर पाकिस्तानी साजिश का पर्दाफाश कर दिया. आतंक के अंडरवर्ल्ड कनेक्शन को समय रहते दिल्ली पुलिस की स्पेशल सेल ने एक्सपोज कर दिया और देश में अनर्थ होने से बचा लिया.

आतंकियों की पहचान

बता दें कि जान मोहम्मद शेख, महाराष्ट्र का रहने वाला 47 साल का है. 22 साल का ओसामा, जामिया नगर दिल्ली का रहने वाला है. 47 साल का मूलंचद एलियस लाल रायबरेली, यूपी जबकि 28 वर्षीय  जीशान कमर प्रयागराज के रहने वाले हैं. पांचवां संदिग्ध अबु बकर मोहम्मद उत्तर प्रदेश के बहराइच जिले का रहने वाला है. पिछले कुछ दिनों से वह दिल्ली में रह रहा था. मोहम्मद आमिर जावेद (31) लखनऊ का रहने वाला है.

ये वो 6 लोग हैं जो देश में आतंक फैलाने की बड़ी साजिश को अंजाम देने वाले थे लेकिन अब इनकी आतंकी साजिश का पर्दाफाश हो गया है और अब ये सभी पुलिस की गिरफ्त में हैं. आतंक के इस टेरर मॉड्यूल के पीछे पाकिस्तान की खुफिया एजेंसी ISI और डी कंपनी का हाथ है.

दिल्ली-मुंबई को दहलाने की साजिश

दिल्ली पुलिस की स्पेशल सेल ने मंगलवार को खुलासा किया कि गिरफ्तार सभी 6 आतंकी देश में अलग-अलग धमाके की प्लानिंग कर रहे थे. महाराष्ट्र के एक आतंकी को राजस्थान से गिरफ्तार किया गया जबकि दो आतंकी दिल्ली से दबोचे गए. 3 आतंकी यूपी से गिरफ्तार किए गए. यानी इनके तार देश के एक राज्य से नहीं बल्कि महाराष्ट्र, राजस्थान से लेकर दिल्ली और यूपी तक फैले हुए हैं. एडीजी (यूपी) प्रशांत कुमार ने बताया कि इनके पास से 2 IED बरामद किए  गए हैं. जिसमें 1 किलो RDX का इस्तेमाल किया गया था. इसके अलावा 2 हैंड ग्रेनेड भी मिले हैं.

पाकिस्तान में मिली ट्रेनिंग

गिरफ्तार आरोपियों में से आरोपी जीशान कमर और ओसामा तो पाकिस्तान में आतंकी ट्रेनिंग भी ले चुके हैं. इन गिरफ्तार आतंकियों के जरिए अंडरवर्ल्ड डॉन दाऊद इब्राहिम भारत को दहलाने की कोशिश में था. जानकारी के मुताबिक, दाऊद इब्राहिम का भाई अनीस इब्राहिम पाकिस्तान में छिपा बैठा है और वो ही इस पूरी साजिश को अंजाम देने में जुटा है. अनीस इब्राहिम अंडरवर्ल्ड के जरिए इस आतंकी मॉड्यूल को सपोर्ट कर रहा था. अनीस आतंकियों को पैसे मुहैया करता था और सीमा पार से हथियार और विस्फोटक लाने में भी मदद करता था.

1993 बम धमाकों जैसी की थी साजिश

नीरज ठाकुर (स्पेशल सीपी, दिल्ली पुलिस) के मुताबिक आतंकियों की इस टीम का काम सीमा पार से हथियार लाना और उन्हें अलग-अलग राज्यों में भेजना था. यानी अनीस इब्राहिम के जरिए दाऊद इब्राहिम भारत में 1993 बम धमाकों जैसी साजिश को अंजाम देने की कोशिश में था.