कोरोना के बीच अब ‘प्लेग’ का खतरा, चूहों से घबराई सरकार

0
164

कोरोना महामारी के बीच ऑस्ट्रेलिया में अब सरकार को प्लेग महामारी का भी खतरा मंडरा रहा है। पूरी दुनिया जहां कोरोना महामारी का सामना कर रही है, वहीं ऑस्ट्रेलिया में चूहों की बढ़ती संख्या से परेशान है और प्लेग बीमारी का खतरा बढ़ते जा रहा है। ऑस्ट्रेलिया की फैक्ट्री और खेतों में लाखों की संख्या में चूहे हो गए हैं,जिन्होंने ऑस्ट्रेलिया के लोगों का जीवन दुर्लभ कर दिया है। यहां लोग इन दिनों चूहों की बेहताशा बढ़ती आबादी के कारण घबराए हुए हैं। ऑस्ट्रेलिया के पूर्वी इलाकों में तो इन चूहों ने खेतों को तबाह कर दिया है, वहीं अनाजों से भरे गोदामों को भी खा गए हैं।

पूर्वी ऑस्ट्रेलिया में प्लेग महामारी का खतरा

यहां चूहों की संख्या अब इतनी ज्यादा हो चुकी है कि लोगों के घरों, अस्पतालों, गोदामों और सरकारी कार्यालयों में भी हर कहीं चूहे दिखाई दे रहे हैं। ऑस्ट्रेलिया सरकार अब इन चूहों को मारने लिए अभियान चलाने की तैयारी कर रही है और साथ ही चूहों के कारण प्रभावित लोगों की राहत के लिए 353 करोड़ रुपये के पैकेज की घोषणा की है।

जानिए चूहों से जुड़ी कुछ दिलचस्प बातें

  • चूहों के दांत हर साल 4-5 इंच बढ़ जाते हैं, अगर वो किसी चीज को कुतरकर अपने दांतों को छोटा न करें तो उनके जबड़े इतने बड़े हो जाएंगे कि ये बिना कुछ खाए मर जाएंगे।
  • फ्रांस ने अतंरिक्ष कार्यक्रम के तौर पर वर्ष 1961 में एक चूहे को अंतरिक्ष में भेजा था, जिसका नाम था Hector, जो सुरक्षित धरती पर वापस भी लौटा था।
  • चूहे की हड्डियां काफी लचीली होती है, अगर 50 फीट की ऊंचाई से भी चूहों छलांग लगाए तो उसे कुछ नहीं होगा।
  • चूहा प्लेग सहित 35 प्रकार की बीमारियों को फैलाता है। चूहे को बीमारी फैलाने वाला सुपर स्प्रेडर माना जाता है।
  • रेगिस्तान में पाया जाने वाला कंगारू चूहा जीवन भर पानी नहीं पीता है, यानी ये बिना पानी पिए जिंदा रह सकता है।
  • चूहा 3 दिन तक लगातार पानी में तैर सकता है और अगर पानी में डूब भी जाएं तो 30 मिनट तक अपनी सांस रोक सकते हैं।
  • चूहें जमीन के अंदर लैंड माइन्स खोजने में भी मदद करते हैं। साथ ही यदि ट्रेनिंग दी जाए तो नाम भी याद रख सकते हैं।
  • दुनिया से यदि सभी चूहें खत्म कर दिए जाए तो इंसानों का अस्तित्व खतरे में पड़ जाएगा क्योंकि सभी दवाओं का परीक्षण चूहों पर ही किया जाता है। दरअसल चूहों के दिमाग की बनावट और उनका स्वभाव इंसानों से काफी मिलता जुलता है। चूहे का दिल 1 मिनट में 632 बार धड़कता है, जबकि इंसानों का दिल 60 से 100 बार धड़कता है।

दुनियाभर में चूहों की आबादी 2000 करोड़

एक अनुमान के मुताबिक पूरी दुनिया में चूहों की करीब 64 प्रजाति है और दुनियाभर में चूहों की आबादी भी लगभग 2 हजार करोड़ है, जबकि मनुष्य की कुल आबादी पूरी दुनिया में 790 करोड़ है, यानी मनुष्यों की आबादी से दो गुना ज्यादा चूहे हमारे बीच में हैं। चूहे हर साल 24 लाख से 2 करोड़ 60 लाख टन तक अनाज खा जाते हैं।