पीएम आवास ठगी के फरार तीन आरोपितों का एक महीने बाद भी सुराग नहीं

0
121

रायपुर।  पीएम आवास दिलाने के नाम पर लाखों रुपये ठगकर फरार हुए तीन आरोपितों का एक महीने बाद भी पता लगाना तो दूर पुलिस सुराग भी ढूंढ नहीं पाई। आरोपितों की तलाश में पुलिस टीम ने नवा रायपुर, ओडिशा के राजा खरियार, खरियार रोड समेत आसपास के अन्य शहरों में जाकर खोजबीन की, लेकिन कहीं से कोई सुराग नहीं मिला।

वहीं, नगर निगम से संबंधित दस्तावेज और जांच रिपोर्ट नहीं मिलने से पुलिस की जांच ठप पड़ गई है। सिटी कोतवाली पुलिस थाना प्रभारी मोहसीन खान ने बताया कि पीएम आवास दिलाने के नाम पर महिलाओं से लाखों की ठगी कर फरार अजय कुमार, सुनील नायक, प्रीति नायक की लगातार तलाश की जा रही है। अब तक किसी आरोपित का कोई सुराग नहीं मिल पाया है।

ठगी का केस दर्ज होने के बाद केवल एक आरोपित ए.रवि राव को गिरफ्तार कर जेल भेजा गया है। फरार आरोपितों की तलाश में पुलिस टीम ने ओडिशा और नवा रायपुर इलाके के कुछ गांवों में जाकर पतासाजी कर चुकी है। वहीं मामले की जांच नगर निगम की तीन सदस्यीय कमेटी भी कर रही है। जांच कमेटी की रिपोर्ट का इंतजार किया जा रहा है। वहीं जोन कमिश्नर को पत्र लिखकर ठगी से संबंधित दस्तावेज मांगे गए हैं। फिलहाल दस्तावेज नहीं मिले हैं।

निगम की जांच रिपोर्ट का पता नहीं

पीएम आवास के नाम पर ठगी के मामले की जांच के लिए नगर निगम ने तीन सदस्यीय जांच कमेटी गठित की है। कमेटी को हफ्ते भर में जांच कर रिपोर्ट आयुक्त को सौंपना था, लेकिन अभी तक जांच का अता-पता नहीं है। इस संबंध में नगर निगम के अपर आयुक्त पुलक भट्ठाचार्य का कहना है कि जांच चल रही है। ठगी के शिकार लोगों से लगातार पूछताछ चल रही है। जल्द ही जांच रिपोर्ट तैयार किया जाएगा।