ओलंपिक में गोल्ड मेडल जीतने के बाद नीरज चोपड़ा ने किया पहला ट्वीट,लिखा मैं अभी भी..

0
205

शनिवार शाम से ही देश में बस एक ही नाम गूंज रहा. सोशल मीडिया पर उसकी तस्वीरों की बाढ़ आ गई है। नीरज चोपड़ा ने टोक्यो ओलिंपिक में गोल्ड मेडल जीतकर इतिहास रच दिया है। नीरज के इस कमाल को किए अब पूरा दिन बीत रहा है। मगर देश से अभी तक उनकी जीत की खुमारी उतरी नहीं है। और, ना ही यह खुमार नीरज से उतरा है। वो भी अपने जीवन के स्वर्णिम पल को अभी भी जी रहे हैं। वह एथलेटिक्स में भारत को पहला स्वर्ण पदक दिलाने वाले खिलाड़ी हैं। नीरज पर इनामों की बारिश हो गई है। नीरज ने अपनी भावनाएं ट्विटर पर शेयर की हैं। गोल्ड मेडल जीतने के बाद पहला ट्वीट कर नीरज ने अपनी भावनाएं व्यक्त की हैं।

टोक्यो ओलिंपिक नीरज ने भाला फेंक स्पर्धा के फाइनल में अपने दूसरे प्रयास में 87.58 मीटर भाला फेंक कर स्वर्ण पदक जीता था। एथलेटिक्स में पिछले 100 वर्षों से अधिक समय में भारत को यह पहला ओलिंपिक पदक हासिल हुआ है।

इस ऐतिहासिक सफलता के बाद नीरज पर पैसों की बारिश शुरू हो गई । उनके राज्य हरियाणा की सरकार ने उन्हें छह करोड़ रुपये देने की घोषणा की है औयोंर कई राज्यों ने भी पुरस्कार का ऐलान किया है।

नीरज ने दिया सभी को धन्यवाद

नीरज ने ट्वीट कर लिखा- ‘ मैं अभी भी उस भावना को महसूस कर रहा हूं। भारत और उसके बाहर से मिले समर्थन और आशीर्वाद के लिए बहुत-बहुत धन्यवाद, जिन्होंने मुझे इस मुकाम तक पहुंचने में मदद की है। ये पल हमेशा मेरे साथ रहेगा. नीरज ने ट्वीट में मेडल के साथ अपनी तस्वीर लगाई है, जिसमें वो ओलिंपिक पोडियम पर खड़े हैं।

दिग्गज धावक मिल्खा सिंह को समर्पित किया मेडल

ओलिंपिक स्वर्ण पदक विजेता नीरज चोपड़ा ने अपनी इस ऐतिहासिक उपलब्धि को दिग्गज धावक मिल्खा सिंह को समर्पित किया। जून में कोविड-19 के कारण मिल्खा सिंह का निधन हो गया था। भारत ने टोक्यो ओलिंपिक में अबतक सात पदक जीते हैं, जिनमें चोपड़ा एकमात्र स्वर्ण पदक विजेता हैं। इसके साथ ही वह व्यक्तिगत प्रतियोगिता में स्वर्ण पदक जीतने वाले अभिनव ब्रिंदा (वर्ष 2008 बीजिंग ओलिंपिक) के क्लब में शामिल हो गए।

जीत के बाद कहा था यह देश के लिए गर्व का क्षण है

23 साल के चोपड़ा ने ऐतिहासिक स्वर्ण पदक जीतने के बाद कहा था कि विश्वास नहीं हो रहा। पहली बार है जब भारत ने एथलेटिक्स में स्वर्ण पदक जीता है। इसलिए मैं बहुत खुश हूं। हमारे पास अन्य खेलों में ओलिंपिक का एक ही स्वर्ण है। उन्होंने कहा, ‘एथलेटिक्स में यह हमारा पहला ओलिंपिक पदक है। यह मेरे और देश के लिए गर्व का क्षण है।’