कोरोना काल में सांसद छत्तीसगढ़ी गीत तो विधायक सुंदरकांड से बढ़ा रहे मनोबल

0
134

रायपुर। कोरोना संकट के बीच जहां एक तरफ लोगों में निराशा के भाव है। अस्पतालों की अव्यवस्था देखकर मरीजों का दिल टूटा जा रहा है। वहीं परिजन भी हताश और निराश हो रहे हैं। इस बीच कुछ उम्मीद की किरण भी नजर आ रही हैं। कोरोना काल में संगीत फायदेमंद हो सकता है। विशेषज्ञों की सलाह का इस्तेमाल राजनेता भी लोगों का मनोबल बढ़ाने में कर रहे हैं।

राजनांदगांव से भाजपा सांसद संतोष पांडेय ने कोरोना से बचाव के लिए छत्तीसगढ़ी में गीत गाया है। उन्होंने यह गीत खुद लिखा है। वही, कांग्रेस के राष्ट्रीय सचिव और रायपुर पश्चिम विधायक विकास उपाध्याय लोगों का मनोबल बढ़ाने के लिए सुंदरकांड का पाठ करने की अपील कर रहे हैं । उन्होंने भी कोरोना से बचाव की अपील के साथ सुंदरकांड का वीडियो भी जारी किया है।

सांसद संतोष पांडेय के छत्तीसगढ़ी गीत में कहा, कोरोना के महामारी ला भगाबो जी, चलो चल संगी मिलकर बीमारी ला भगाबो न…। यह गीत मोर संग चलव गीत की तर्ज पर तैयार किया गया है। पांडेय ने कहा कि कोरोना में प्रदेश की स्थिति भयावह हो गई है। ग्रामीण क्षेत्रों में भी तेजी से प्रसार हो रहा है। उनका लोकसभा क्षेत्र महाराष्ट्र बार्डर से लगा है, जिसमें बड़ी संख्या में प्रवासी मजदूर आए हैं। गांव में संक्रमण फैलने से रोकने के लिए जागरूकता जरूरी है, इसलिए छत्तीसगढ़ी गीत को तैयार किया।

सुंदरकांड से सुनने से दूर होता है भय, कोरोना काल में जरूरी: विकास

कांग्रेस के राष्ट्रीय सचिव विकास उपाध्याय ने सुंदरकांड का वीडियो जारी किया है। इसे रायपुर पश्चिम विधानसभा के करीब एक लाख लोगों के मोबाइल तक पहुंचाने की कोशिश है। विकास ने कहा कि उनकी विधानसभा में हजारों की संख्या में लोग संक्रमित हुए हैं। कुछ अस्पताल में है, तो कुछ होम क्वारंटाइन होकर उपचार कर रहे हैं। उन्हें अपनी मन की शक्ति को बढ़ाने के साथ साथ अपने आत्मविश्वास को बढ़ाना भी जरूरी है।

दवा के साथ-साथ अब दुआ और भगवान का भजन ताकत प्रदान करता है। हम भगवान के सुमरन से अपनी अंतरात्मा को और मजबूत कर सकते हैं, इसलिए प्रतिदिन सुंदरकांड का पाठ अवश्य करें। सकारात्मक रहेंगे तो रोग प्रतिरोधक क्षमता और बढ़ेगी। हम सब मिलकर कोरोना को जल्द से जल्द हराकर स्वस्थ जीवन का आनंद उठा सकेंगे।