देश के इन पांच राज्यों को लेकर टेंशन में है मोदी सरकार, देखिए.. छत्तीसगढ़ क्यों है शामिल?

0
156

नई दिल्‍ली । देश में कोरोना की रफ्तारी धीमी हुई है और आज सभी राज्‍यों में वैक्‍सीन का ड्राई रन भी शुरू हो गया है। हालांकि फिर भी कुछ प्रदेश ऐसे हैं, जिनकी वजह से केंद्र सरकार अभी भी टेंशन में हैं। केंद्रीय स्वास्थ्य और परिवार कल्याण मंत्रालय ने शनिवार को कहा कि भारत में पांच राज्यों ने कोरोना वायरस बीमारी (कोविड-19) के देश के सक्रिय मामलों में लगभग 62% योगदान दिया है।

स्वास्थ्य मंत्रालय ने कहा कि केरल, महाराष्ट्र, उत्तर प्रदेश, पश्चिम बंगाल और छत्तीसगढ़ ने देश के सक्रिय मामलों की वर्तमान स्थिति में 157,106 केसों का योगदान है। स्वास्थ्य मंत्रालय ने कहा कि केरल में 65,381, महाराष्ट्र में 54,045, उत्तर प्रदेश में 14,260, पश्चिम बंगाल में 11,985 और छत्तीसगढ़ 11,435 संक्रमणों के साथ देश के केसलोड में सबसे अधिक शामिल हैं।

स्वास्थ्य मंत्रालय के आंकड़ों से पता चलता है कि सभी राज्यों और केंद्र शासित प्रदेशों (यूटी) में से केवल छह में 150,000 से अधिक सक्रिय मामले हैं, जिनमें से केवल केरल और महाराष्ट्र में 50 हजार से ज्‍यादा और अन्य चार राज्यों में 15,000 से नीचे है।

इन राज्यों पर एक नज़र:

1. केरल: देश में 60,000 से अधिक सक्रिय कोविड-19 मामलों के साथ दक्षिणी राज्य एकमात्र है। यहां अब तक 760,933 मामले दर्ज किए हैं। इसका मतलब है कि सक्रिय मामले केरल के कुल पुष्टि मामलों में से 8.60% योगदान करते हैं। साथ ही, देश के पांचवें सबसे प्रभावित राज्य केरल में 3,000 से अधिक लोग बीमारी से मर चुके हैं।

2. महाराष्ट्र: लगभग 2 मिलियन कोविड-19 मामलों के साथ महाराष्ट्र में 54,045 सक्रिय मामले हैं, जोकि केसलोड में 2.80% का योगदान करते हैं।

3. उत्तर प्रदेश: 200 मिलियन से अधिक की आबादी वाला देश का सबसे अधिक आबादी वाला राज्य, अब तक लगभग 600,000 कोविड-19 मामले दर्ज कर चुका है। यहां पर अभी भी कुल 14,260 सक्रिय मामले हैं, जिसका मतलब है कि वर्तमान में राज्य में 2.43% सक्रिय मामले हैं।

4. पश्चिम बंगाल: कोविड-19 महामारी से निपटने के लिए केंद्र और राज्य सरकार के बीच एक घर्षण रहा है। यहां अब तक 550,000 से अधिक मामले सामने आए हैं। राज्य के कुल कोविड-19 मामलों में 11,985 सक्रिय केस 2.17% योगदान करते हैं।

5. छत्तीसगढ़: राज्य में कोविड-19 के लगभग 280,000 मामले हैं, जिनमें से 11,435 सक्रिय हैं। इससे छत्तीसगढ़ को कुल टैली के 4.09% सक्रिय मामले मिलते हैं।