वीर शहीद युगलकिशोर की जन्मभूमि में विधायक फहराएंगी राष्ट्र तिरंगा

0
210

धरसीवां । वैसे तो छत्तीसगढ़ की राजधानी रायपुर से लगा धरसीवां क्षेत्र डॉ खूबचन्द बघेल से लेकर अनगिनत स्वतंत्रता संग्राम सेनानियों की जन्म व कर्मभूमि रहा है लेकिन आजादी के बाद भी यहां के वीर सपूतों ने मातृभूमि पर अपना वलिदान दिया है ऐंसे ही वीर योद्धा शहीद उपनिरीक्षक युगलकिशोर वर्मा की जन्मभूमि है। धरसीवां विधानसभा का ग्राम पंचायत कनकी जहां इस बार गणतंत्र दिवस पर क्षेत्रीय विधायक अनीता योगेंद्र शर्मा ध्वजारोहण कर वीर अमर शहीद को याद करेंगी।शेष पढ़ें विज्ञापन के बाद…..

Advertisement






वीर योद्धा उपनिरीक्षक युगलकिशोर वर्मा का संक्षिप्त जीवन

वीर योद्धा उपनिरीक्षक युगलकिशोर वर्मा का जन्म 13 जनवरी को ग्राम कनकी में हुआ।उनकी मां का नाम यशोदा वर्मा व पिता का नाम शिवकुमार वर्मा है बचपन से ही वह मेघावी एवं अनिशासित छात्र रहे उनकी प्राथमिक शिक्षा पलारी ओर माध्यमिक शिक्षा नवोदय विद्यालय माना में हुई सैन्य विज्ञान से स्नातकोत्तर की शिक्षा शासकीय विज्ञान महाविधालय रायपुर में हुई। उन्होंने दो बार इंटर कालेज हेंडवाल में कालेज के नेतृत्व किया साथ ही सामाजिक कर्तव्य निर्वहन के दौरान अपने जीवन मे 53 बार रक्तदान कर मुसीबत में लोगो के प्राणों की रक्षा की। सन 2008 में पुलिस विभाग में उपनिरीक्षक पद पर चयनित होकर नक्सल प्रभावित जिलों दंतेवाड़ा एसआईवी बीजापुर एवं राजनांदगांव में उत्कृष्ट कार्यो हेतु विभाग द्वारा अनेकों बार पुरस्कृत किये गए ए0सआईबी बीजापुर में लगभग तीन वर्ष की सेवा के दौरान उन्होंने कुल 36 आईडी बरामद किए जिला राजनांद गांव में नक्सली उन्मूलन हेतु गठित ईं-30 टीम प्रभारी पद पर रहते हुए 6 अगस्त 2017 को 9 वर्ष के सेवाकाल में 50 बे नक्सली मुठभेड़ के दौरान अदम्य साहस का परिचय देते हुए वीर योद्धा उपनिरीक्षक युगलकिशोर वर्मा वीरगति को प्राप्त हुए।

गणतंत्र दिवस वीर योद्धा युगलकिशोर की याद में 

26 जनवरी गणतंत्र दिवस के पावन अवसर पर उक्त वीर योद्धा युगलकिशोर को याद करते हुए विधायका अनिता योगेंद्र शर्मा उनकी मूर्ति पर श्रद्धासुमन अर्पित करेंगी वह गणतंत्र दिवस पर कनकी गांव में ही ध्वजारोहण करेंगी।