Lockdown:फल और सब्जी कारोबार lock,40 फीसद कम हुई बिक्री

0
135

रायपुर। लॉकडाउन की वजह से इन दिनों सब्जियों व फलों की बिक्री और आपूर्ति बुरी तरह प्रभावित हुई है। इसकी वजह से उपभोक्ताओं को अधिक कीमत का भुगतान करना पड़ रहा है और उत्पादकों को कीमत ही नहीं मिल रही। प्रशासन ने हालांकि थोक बाजार को रात को खोलकर सप्लाई सुधारने की कोशिश की, लेकिन कारोबारियों का कहना है यह फायदेमंद नहीं रहा। लॉकडाउन के पहले अगर राजधानी में रोजाना फल व सब्जियों की बिक्री व बाहरी सप्लाई 20 करोड़ की रही तो इन दिनों मुश्किल से 12 करोड़ रुपये का भी कारोबार नहीं हो रहा है।

फल व सब्जी कारोबारियों का कहना है कि अभी तो रात के बाजार के कारण ऐसी स्थिति है कि माल होते हुए भी ग्राहक काफी घट गए है। रायपुर से बाहरी क्षेत्रों में जाने वाली सप्लाई तो काफी घट गई है। आम ग्राहकों के साथ ही दूरदराज से आने वाले व्यापारी ग्राहक भी पूरी तरह से नदारद हैं। इसके चलते ही कारोबार प्रभावित हो गया है। विशेषकर इन दिनों फलों की आवक बहुत कम है, इसका प्रभाव ही इनकी कीमतों में देखने को मिल रहा है।

फलों में ज्यादा तेजी

फल बाजार में ज्यादा तेजी बनी हुई है। सेव 200-250 रुपये किलो, अंगुर 180 रुपये किलो, संतरा 150-160 रुपये किलो, कलंदर 30-40 रुपये किलो, आम 80 से 100 रुपये किलो तक बिक रहे है। फल कारोबारियों का कहना है कि अभी फलों की सप्लाई अच्छी नहीं है। इसके प्रभाव से ही कीमतों में तेजी है। आवक सुधरने पर कीमतें भी सुधर जाएंगी।

सब्जियों में थोड़ा सुधार

बीते दिनों बारिश की वजह से खराब होने से महंगी हो रही सब्जियों की कीमतों में थोड़ा सुधार होने लगा है। इसके पीछे बतायाजा रहा है कि मुख्य कारण बाहरी क्षेत्रों से आपूर्ति शुरू होने को बताया जा रहा है। इन दिनों टमाटर 20-30 रुपये किलो, बैगन 30 रुपये किलो, गोभी 50-60 रुपये किलो, लौकी 20 रुपये किलो, भिंडी 40 रुपये किलो तक बिक रही है।

थोक सब्जी व्यावसायी संघ के अध्यक्ष ने कहा कि भले ही थोक बाजार रात में खोले जा रहे है,लेकिन इससे कोई विशेष फायदा नहीं हुआ। 40 फीसद तक कारोबार इन दिनों घट गया है। वहीं फल कारोबारी विनोद वाधवानी ने कहा कि कारोबार पूरी तरह से घट गया है। ग्राहक ही आने कम हो गए हैं। माल की सप्लाई कम होने की वजह से कुछ फलों की कीमतें भी अधिक हैं।