पीएचई विभाग में बाहरी लोगों को दिया जा रहा काम, स्थानीय ठेकेदार पहुंचे सीएम के पास

0
219

रायपुर। जल जीवन मिशन के ठेकेदार पीएचई विभाग में काम करने का मौका नहीं दिए जाने पर गुहार लगाने सीएम हाउस पहुंचे।पिछले दिनों जल जीवन के कार्यों में अनियमितता होने की शिकायत मुख्यमंत्री से करते हुए पूरी निविदा प्रक्रिया को निरस्त करने की मांग की गई ।ठेकेदारों का कहना है कि 25 वर्षों से विभाग में काम कर रहे हैं लेकिन अब उन्हें काम का मौका नहीं दिया जा रहा है और वहीं दूसरी ओर नए ठेकेदारों को काम दिया जा रहा है।

ठेकेदार दिनेश केजरीवाल ने कहां कि छत्तीसगढ के ठेकेदारों को कोई प्राथमिकता नहीं दी जा रही है जबकि हम सभी लगातार 25 वर्षों से विभाग में कार्य कर रहे हैं।लेकिन बाहरी ठेकेदारों को बुलाकर उन्हें ज्यादा से ज्यादा काम दिया जा रहा है जो अनुचित है। सरकार से हमारी मांगे है कि लोकल ठेकेदारों को काम दिया जाए। जिससे छोटे ठेकेदार भी अपना घर चला सके।

वही ठेकेदार मोहम्मद काशिफ ने कहा कि हम सभी बिना काम के बैठे हुए हैं। यही चाहते हैं कि री मैपिंग करके हमें काम को आवंटित किया है। जिसमें इस साल भारत सरकार से जो भी पैसा आया हुआ है यूटिलाइज हो पाए। और हम सभी का काम जल्द से जल्द शुरु हो जाए। ठेकेदारों की मांग मुख्यमंत्री से यही है कि कॉलोनी के ठेकेदारों को भी उनके जिलो में कार्य मिले निविदा को बिल्कुल भी निरस्त नहीं किया जाए।