जंगल सफारी प्रबंधन हुआ सतर्क,कोरोना से बचाएंगे पशुओं को, निर्देश जारी

0
171

रायपुर । हैदराबाद स्थित नेहरू जुलाजिलकर पार्क में शेर के कोरोना संक्रमण होने की पुष्टि होने से जंगल सफारी प्रबंधन सतर्क हो गया है। कोरोना संक्रमण जंगल सफारी में ना फैले इसलिए अफसरों द्वारा लगातार सख्ती बरती जा रही है। सफारी के जू कीपरों को बाहर नहीं जाने दिया जा रहा है। इसके साथ ही वन्यजीवों को अलग-अलग रखा जा रहा है। सफारी प्रबंधन द्वारा सौ डिग्री में मीट पकाकर वन्यजीवों को खाने के लिए दिया जा रहा है।

इसके साथ ही सफारी के प्रत्येक बाड़े को दिन में दो बार सैनिटाइज किया जा रहा है। जंगल सफारी प्रबंधन का कहना है कि सफारी में पिछले कोरोना काल से ही पूरी सतर्कता बरती जा रही है। ज्ञात हो कि जुलाजिकल पार्क में शेरों के कोरोना होने की पुष्टि किए जाने के बाद छत्तीसगढ़ पीसीसीएफ वाइल्ड लाइफ पीवी नरसिंग राव ने एशिया से सबसे बड़े जंगल सफारी में शेरों के बचाव के लिए एहतियात कदम उठाने के लिए निर्देश जारी किए हैं।


 


वाइल्ड लाइफ पीसीसीएफ ने कोरोना संक्रमण फैलते ही प्रदेशभर के जू को एहतियात बरतने का मौखिक निर्देश जारी किया। पीसीसीइएफ द्वारा दी गई गाइड लाइन के मुताबिक सफारी प्रबंधन लगातार काम कर रहा है।

केयर टेकर सफारी में ही रह रहे

जंगल सफारी के एसडीओ अभय पाण्डेय ने बताया कि सफारी में वन्यजीवों की देखरेख के लिए तैनात किए गए जू कीपरों को शिफ्ट के हिसाब से ड्यूटी लगाई जाती है। जब से कोरोना संक्रमण बढ़ा है जू कीपरोें को सफारी से बाहर नहीं निकलने दिया जा रहा है। इसके साथ ही जू में ड्यूटी करने वाले को कोरोना टेस्ट कराया जा चुका है, ताकि वन्यजीवों को किसी प्रकार की दिक्कत न हो।

इसके साथ ही विजिट में जाने वाले अधिकारियों को भी सैनिटाइज के बाद ही उनको प्रवेश दिया जा रहा है। वन्यजीवों को दी जाने वाली खाद्य सामग्री की पूरी तरह से जांच कराई जा रही है उसके बाद ही उनको खाने के लिए दिया जा रहा है।

इम्युनिटी पावर बढ़ाने की दवा देने के निर्देश

जंगल सफारी में वर्तमान में 11 शेर और सात बाघ हैं। हैदरबाद जू में शेर को संक्रमित होने के बाद जंगल सफारी में बाघ तथा शेरों की नियमित चिकित्सकीय जांच की जा रही है। साथ ही इन वन्यजीवों के भोजन में रोग प्रतिरोधक क्षमता बढ़ाने वाली दवा देने के निर्देश दिए गए हैं।

आदेश जारी किया जा रहा

डीएफओ एम. मर्शीवेला, ने बताया कि हैदराबाद में शेर के संक्रमित होने के बाद वन्यजीवों की देखरेख तथा संक्रमण से बचाने के लिए अतिरिक्त सावधानी बरतने के लिए मुख्यालय से निर्देश दिया गया है। निर्देश के मुताबिक सभी को कोरोना गाइडलाइन का सख्ती से पालन करने कहा गया है। इसके साथ ही मैं भी जंगल सफारी का लगातार निरीक्षण कर रही हूं।