किसानों के भारत बंद का असर, महाराष्ट्र, बंगाल और ओड़ीशा में रोकी गई रेल

0
220

भारत बंद का असर अलग-अलग जगह पर अलग-अलग तरीके से देखने को मिला । पार्टियों का विरोध प्रदर्शन किया गया तो कहीं ट्रेन रोकी गई । वही दुकानों को बंद भी करवाया गया। देखते हैं भारत बंद का असर कहां पर कैसा हुआ …

आंध्र प्रदेश: विशाखापट्टनम में लेफ्ट पार्टियों ने विरोध प्रदर्शन

कृषि कानूनों के खिलाफ बुलाए गए भारत बंद के समर्थन में आंध्र प्रदेश के विशाखापट्टनम में लेफ्ट पार्टियों ने विरोध प्रदर्शन किया।

पंजाब के अमृतसर में भारत बंद का असर, बंद हैं दुकानें

पंजाब के अमृतसर में भारत बंद के समर्थन में दुकानें बंद दिख रही हैं। किसान मजदूर संघर्ष कमेटी के महासचिव ने कहा, “दुकानें लगभग बंद हैं, इमरजेंसी सेवा बहाल है। लोग अपने मन से शटर बंद कर रहे हैं।”

भारत बंद को देखते हुए बिहार की राजधानी पटना में बड़ी संख्या में सुरक्षा बलों की तैनाती

बंगाल: कोलकाता में भारत बंद के समर्थन में प्रदर्शन कर रही लेफ्ट पार्टियों ने जादवपुर में रोकी रेल

किसानों के भारत बंद के बीच दिल्ली के कई बॉर्डर और रास्ते बंद, ट्रैफिक पुलिस ने जारी की एडवाइजरी

किसानों के भारत बंद के बीच आज भी दिल्ली के कई बॉर्डर और रास्ते बंद हैं।इस संबंध में दिल्ली ट्रैफिक पुलिस ने एडवाइजरी जारी की है। दिल्ली ट्रैफिक पुलिस के मुताबिक, किसी भी यातायात के लिए टिकरी, झारोदा बॉर्डर, धनसा बंद हैं। बदुसराय सीमा केवल हल्के मोटर वाहनों जैसे कारों और दोपहिया वाहनों के लिए खुली है। झटीकरा सीमा केवल दोपहिया यातायात के लिए खुली है।

भारत बंद के बीच सिंघु बॉर्डर पर बड़ी संख्या में सुरक्षा बलों की तैनाती

कृषि कानूनों के खिलाफ चल रहे किसानों के विरोध प्रदर्शन को देखते हुए सिंघु बॉर्डर पर सुरक्षा बलों की तैनाती की गई है। किसान यूनियनों ने आज कृषि कानूनों के खिलाफ भारत बंद का आवाह्न किया है, जिसका असर पूर देश में देखा जा रहा है।

ओडिशा में भारत बंद का असर, लेफ्ट, ट्रेड यूनियन और किसानों ने भुवनेश्वर में रोकी रेल

ओडिशा में भी भारत बंद का असर देखा जा रहा है। लेफ्ट पार्टियों, ट्रेड यूनिय और किसानों ने भुवनेश्वर रेलवे स्टेशन पर प्रदर्शन किया और रेल रोक दी है।

महाराष्ट्र में भारत बंद का असर, बुलढाणा के मलकापुर में रोकी गई रेल

महाराष्ट्र में भारत बंद का असर देखने को मिला है। बुलढाणा के मलकापुर में स्वाभिमानी शेतकरी संघटना से जुड़े लोगों ने रेल रोक दी और रेलवे ट्रैक पर आ गए। इसके मौके पर पहंची पुलिस ने रेलवे ट्रैक को खाली कराया और विरोध कर रहे लोगों को हिरासत में ले लिया।

नए कृषि कानूनों के खिलाफ भारत बंद आज, कई राजनीतिक दलों और ट्रेड यूनियन ने किया समर्थन

नए कृषि कानूनों के खिलाफ किसानों ने आज भारत बंद का ऐलान किया है। किसानों के समर्थन में कई राजनीतिक दलों और ट्रेड यूनियन हैं। सरकार से कई दौर की बातचीत फेल होने के बाद किसानों द्वारा भारत बंद बुलाया गया है। कल यानी 9 दिसंबर को सरकार और किसानों के बीच अगले दौर की बातचीत होगी।