निगम ने बना तो दी नई दुकानें पर भूल गया शौचालय बनाना, लोग हो रहे परेशान

0
211

रायपुर । करोड़ों की लागत से हाल ही में देवेंद्र नगर गुरुजी चौक का सुंदरीकरण किया गया। 47 नई दुकानें बनाई गईं, लेकिन निगम शौचालय बनाना भूल गया। इसका खामियाजा यहां के दुकानदारों और ग्राहकों को उठाना पड़ रहा है। आसपास कोई भी सुलभ शौचालय नहीं है। आगे पढ़ें विज्ञापन केेे बाद…..

Advertisement



एक तरफ जहां शहर में निगम पिंक टायलेट बना रहा है, वहीं दूसरी ओर देवेंद्र नगर गुरुजी चौक की कहानी कुछ और ही है। इधर स्वच्छता के लिए निगम शहर भर में अभियान चला रहा है। दूसरी ओर करोड़ों रुपये खर्च करके शहर को स्मार्ट बनाया जा रहा है, लेकिन लोगों तक मूलभूत सुविधा पहुंचाने में निगम की बड़ी लापरवाही सामने दिख रही है। दुकानदारों का कहना है कि वे निगम के अधिकारियों समेत जनप्रतिनिधियों से शौचालय बनाने के लिए मांग कर चुके हैं, फिर भी इस ओर ध्यान नहीं दिया जा रहा है।ऐसे लोग मजबूरन खुले में पेशाब करने को मजबूर हैं।

कैसे साकार होगा स्वच्छ रायपुर का सपना

शहर को स्माट बनाने के लिए नगर निगम करोड़ों रुपये खर्च कर रहा है। ऐसे में लोगों की सबसे जरूरत की चीजों को भूलने से लोगों के मन में कई प्रश्न उठ रहे हैं, क्योंकि सुंदरीकरण के वक्त यहां बिना निविदा निकाले ही काम शुरू कर दिया गया था। जब मामला सामने आया तो अधिकारी और जनप्रतिनिधि इमरजेंसी काम ऐसा होता है कहकर टाल-मटोल करते रहे। इससे अंदाजा लगाया जा सकता है कि स्वच्छ रायपुर का सपना किस तरह से साकार होगा। आगे पढ़ें विज्ञापन के बाद…..

Advertisement



 

टाइल्स अभी उखड़ने लगीं

पुरानी दुकान को नए सिरे से बनाने के लिए स्मार्ट सिटी और नगर निगम ने लाखों रुपये खर्च किए। दुकानों के सामने सीढ़ी में टाइल्स लगाए हैं। टाइल्स चंद ही दिनों में उखड़ने लगी हैं। लोगों का कहना है कि इस सुंदरीकरण में निविदा घोटाला समेत निर्माण में इंजीनियरों ने जमकर लापरवाही बरती है। यही कारण है कि निर्माण हुए कुछ ही दिनों में हकीकत सबको सामने आने लगी है।

गार्डन की घास सूखने लगी है और जमीन दब गई

चौक को सुंदर बनाने के लिए एक छोटा सा गार्डन विकसित किया गया है। यहां हरियाली बिखेरने के लिए घास और पौधों रोपे गए हैं। इधर समुचित देखरेख के अभाव में अभी में घास सूखने लगी है। इसके अलावा जमीन दब गई है। फिर भी इस निगम का इस ओर कोई ध्यान नहीं है। इसके अलावा नाली गिट्टी, रेत आदि से पटी हुई है। नाली जाम की स्थिति में है। लोकार्पण करने के वक्त भी इन नालियों की सफाई नहीं हुई। ऐसे में पानी रुकने के वजह से बदबू, मच्छरों का प्रकोप भी बढ़ रहा है।

जोन 2 कार्यपालन अभियंता विनोद देवांगन ने कहा कि हमें जो काम दिया गया था, उसे पूरा कर दिया है। जहां तक रही शौचालय बनाने की बात तो हमें यह काम नहीं सौंपा गया था, न ही आने वाले दिनों में शौचालय निर्माण कार्य प्रस्तावित है।

Advertisement