17 साल की दिव्यांग से गैंगरेप के बाद फोड़ दी दोनों आंखें, दरिंदगी की सारी हदें पार

0
61

मधुबनी । बिहार के मधुबनी जिले में हैवानियत की घटना सामने आई है। यहां चारा लेने गई 17 साल की दिव्यांग किशोरी का कुछ लोगों ने गैंग रेप किया। पहचान सामने ना आ पाए इसलिए पीड़िता की दोनों आंखों को लकड़ी घुसाकर फोड़ दिया। इस निर्दई वारदात के बाद किशोरी को मरने के लिए फेंककर आरोपी फरार हो गए। फिलहाल पीड़िता को दरभंगा मेडिकल कॉलेज में भर्ती कराया गया है। सूत्रों से मिली जानकारी के अनुसार, उसकी हालत बेहद गंभीर बनी हुई है। यह घटना मधुबनी जिले के हरलाखी थाना क्षेत्र की बताई जा रही है। किशोरी बोलने और सुनने में अक्षम है। वह बिहार बोर्ड परीक्षा की तैयारी कर रही थी।

छात्रा बकरियों के लिए खेत में तोड़ने गई थी पत्ते

वह बकरी के लिए चारा और जलावन की लकड़ी लेने नजदीक की नदी किनारे गई थी । जहां वो कुछ दरिंदों का शिकार बन गई । काफी देर बाद भी जब दिवयांग घर नहीं पहुंची तो परिजनों ने खोज-बीन शुरू की। इस दौरान वह एक बगीचे में नग्न अवस्था में लहूलुहान मिली। किशोरी की हालत बहुत गंभीर थी और वह बेहोश अवस्था में थी। परिजनों ने उसे तत्काल उमगांव प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र में भर्ती कराया, जहां गंभीर हालत के चलते डॉक्टर ने मधुबनी सदर अस्पताल रिफर कर दिया। मधुबनी सदर अस्पताल से किशोरी को दरभंगा मेडिकल कॉलेज रेफर कर दिया गया, जहां उसकी हालत नाजुक बनी हुई है।

डॉक्टरों के मुताबिक, लड़की की एक आंख लकड़ी घुसाकर पूरी तरह फोड़ दी गई हैं, जबकि दूसरी की भी रोशनी चले जाने का खतरा है। इसके अलावा उसके चेहरे पर भी गंभीर घाव हैं। मामले की जांच कर रही पुलिस ने दुष्कर्म में शामिल एक संदिग्ध को गिरफ्तार कर लिया है। इसकी पहचान लक्ष्मी मुखिया के तौर पर की गई है। किशोरी के परिजनों ने उसे घटना के समय नदी की तरफ से आते हुए देखा था और उसके शरीर व कपड़ों पर मिट्टी और गेहूं के खेत की घास लगी हुई थी। पुलिस बाकि आरोपीयों की खोज में लगी है।