Father’s Day 2021: आज है फादर्स डे, जानिए क्यों मनाते हैं यह दिन और क्या है इसका इतिहास और महत्व

0
271

Father’s Day 2021: माॅं ममता का सागर है तो पिता मुसीबतों भरी धूप में राहत की छांव। हर बच्चे के जीवन में जितनी अहमियत माॅं की होती है उतनी ही पिता की होती है। जिस तरह मां के सम्मान के लिए ‘मदर्स डे’ मनाया जाता है, ठीक वैसे ही पिता के सम्मान के लिए ‘फादर्स डे’ मनाया जाता है। हर साल जून माह के तीसरे रविवार को फादर्स डे मनाया जाता है। यह दिन पिता को समर्पित है इसलिए इस खास दिन पिता के बलिदानों और उनके प्रेम, बच्चों के पालन-पोषण में निभाई जाने वाली अहम भूमिका के लिए उनके प्रति सम्मान जताने का अवसर देता है। हर पिता अपने बच्चों के लिए आदर्श होने के साथ उनका रक्षक होता है।

देश में कोराना जैसी इस महामारी ने न जाने कितने ही बच्चों से उनका पिता छीन कर उन्हे अनाथ कर दिया है। पिता की राहत भरी छांव के नीचे रह रहे बच्चे अब मुसीबतों की धूप में तप रहे हैं। पिता के अभाव में जिम्मेदारी के बोझ तले अपना जीवन गुजार रहे हैं। पिता के ऐसे ही बलिदान हर बच्चों को उनकी याद दिलाती है। वह न सिर्फ हमारे पिता हैं बल्कि एक रोल माॅडल, दोस्त, रक्षक, गाइड और हीरो भी है। जैसे माॅं हमें ममता की छांव में रखती है तो पिता हमें जिन्दगी जीना सिखाते हैं। उनकी सरपरस्ती बच्चों को सुरक्षा का एहसास कराती है।

आज है Father’s Day

पिता के सम्मान में इस साल 20 जून  यानि आज फादर्स डे मनाया जाएगा। वैसे तो एक पिता अपने बच्चों को खुद के पैरों पर खड़ा देखकर बहुत खुश होते हैं लेकिन छोटी-छोटी खुशियां भी पिता और बच्चों के रिश्ते को और गहरा बना देती है। यह खास दिन आपके पिता के लिए बहुत ही अहम है। इस दिन आप कुछ ऐसा करें कि आपके पिता आपसे बेहद खुश हो जाएं। इसके लिए आप या तो उनके पसंन्द की कोई डिस बना दीजिए। या फिर उन्हें कार्ड, गिफ्ट और फूल भी दे सकते हैं। इसके अलावा आप अपने पिता के रूम को सजा भी सकते हैं और उनके लिए कोई प्यारा सा संदेश भी लिख कर दे सकते हैं। लेकिन इन सबसे ज्यादा जरूरी है कि इस खास दिन आप अपने पिता को धन्यवाद कहना न भूलें।

क्या है Father’s Day का इतिहास

ऐसा कहा जाता है कि फादर्स डे की नीवं सोनोरा स्मार्ट डाॅड ने अपने पिता विलियम जैकसन स्मार्ट के प्यार और त्याग से प्रेरित होकर रखी थी। सोनारा के पिता ने अमेरिकन सिविल वाॅर में हिस्सा लिया था। चार भाई बहन और मां के गुजर जाने के बाद सोनारा के पिता ने ही उसका पालन-पोषण किया था। बतादें कि पहली बार फादर्स डे अमेरिका में 19 जून 1910 को मनाया गया था। इसके बाद 1966 में अमेरिकी प्रेसिडेंट लिंडन बी. जाॅनसन ने जून माह के तीसरे रविवार के दिन फादर्स डे मनाने की मंजूरी दे दी थी। तब से ही यह दिन मनाया जा रहा है।

Father’s Day का महत्व

हर बच्चे के उज्ज्वल भविष्य की नींव रखने में पिता की अहम भूमिका होती है। पिता का सपना ही बच्चों के बेहतर भविष्य की कामना करता है। हर पिता अपना कई बलिदान देकर बच्चों की जरूरतों को पूरी करता है। उनके दिमाग में यह निरंतर रहता है कि जिस परेशानी से वह गुजरे हैं उस परेशानी से वह कभी भी अपने बच्चों को नहीं गुजरने देगें। हर पिता की ऐसी सोच बच्चों की नजरों में उनके सम्मान को बढ़ाती है। और इसी सम्मान को बंया करने के लिए इस खास दिन को मनाया जाता है। इसलिए आप भी अपने पिता के सम्मान में इस खास दिन को मनाएं और उन्हें धन्यवाद जरूर कहें।