कल सुबह 6 बजे से सड़के जाम करेंगे किसान, बाज़ार भी रहेगा बंद, इन सेवाओं को छूट

0
135

पिछले 4 महीनों से किसान कृषि कानूनों के विरोध में दिल्ली के बॉर्डर पर विरोध प्रदर्शन कर रहे हैं. ऐसे में संयुक्त किसान मोर्चा ने 26 मार्च यानी कल भारत बंद का ऐलान किया है. कल का भारत बंद सुबह 6 बजे से शुरू होकर शाम 6 बजे तक करीब 12 घंटे का होगा. इस दौरान देशभर में सभी सड़कें, रेल परिवहन, बाजार और अन्य सार्वजनिक स्थानों को बंद किया जाएगा.

किसान नेता बूटा सिंह बुर्जगिल ने कहा था कि हम 26 मार्च को पूर्ण भारत बंद को ऑब्जर्व करेंगे, क्योंकि किसान आंदोलन के लिए 4 महीने पूरे हो जाएंगे. उन्होंने कहा था कि ये बंद सुबह से शाम तक शांतिपूर्ण तरीके से किया जाएगा. किसानों की होलिका दहन के दौरान 28 मार्च को कृषि कानूनों की प्रतियां जलाने की भी योजना है.

चुनावी राज्यों में बंद नहीं

संयुक्त किसान मोर्चा ने साफ किया है कि जिन राज्यों और केंद्र शासित प्रदेशों में विधानसभा चुनाव होने वाले हैं, उन्हें भारत बंद से छूट दी जाएगी. इस सप्ताह की शुरुआत में विरोध प्रदर्शन करने वाले किसान संघों ने देश के नागरिकों से भारत बंद को पूरी तरह से सफल बनाने का आग्रह किया था. किसान नेता दर्शन पाल ने कहा कि हम देश के लोगों से इस भारत बंद को सफल बनाने और अन्नदाता का सम्मान करने की अपील करते हैं. आंध्र प्रदेश में सत्तारूढ़ वाईएसआर कांग्रेस पार्टी  ने कल भारत बंद को समर्थन दिया है. पार्टी विशाखापत्तनम स्टील प्लांट के निजीकरण के केंद्र के फैसले के खिलाफ इस दौरान प्रदर्शन करेगी.

आपातकालीन सेवाओं को भी छूट

आंध्र प्रदेश के परिवहन, सूचना और जनसंपर्क मंत्री पर्णी वेंकटरामैया उर्फ ​​नानी के मुताबिक राज्य सरकार स्टील प्लांट के निजीकरण के खिलाफ है. इस संबंध में मुख्यमंत्री वाईएस जगन मोहन रेड्डी केंद्र सरकार को चिट्ठियां भी भेजी थीं. राज्य सरकार केंद्र सरकार के फैसले का विरोध करती है. इस प्लांट को स्थापित करने में तेलुगु लोगों का बड़ा योगदान रहा है. आंध्र प्रदेश में सभी सरकारी संस्थान दोपहर 1 बजे के बाद खुलेंगे और आरटीसी बसें भी दोपहर के बाद शुरू हो जाएंगी. सभी आपातकालीन सेवाएं बंद के दौरान भी चलती रहेंगी.