किसानों ने पुलिस के वाहनों और क्रेनों पर किया कब्जा, बेबस हुई दिल्ली पुलिस

0
195

नई दिल्ली। भारी हंगामे के बीच किसानों की ट्रैक्टर रैली शुरू हो गई है। कई जगह पर किसानों ने बैरिकेड्स तोड़ दिए और समय से पहले ही दिल्ली की सीमा में घुस गए। गाजीपुर, सिंघु, टीकरी और धंसा बॉर्डर से किसान दिल्ली में प्रवेश कर रहे हैं। कई जगहों पर प्रदर्शनकारी किसानों के हाथ में पुलिस के डंडे भी दिखाई दिए। वीडियो देखें विज्ञापन के बाद….

Advertisement








कई जगहों से पुलिस और किसानों के बीच गतिरोध की खबरें भी आ रही हैं। किसानों ने पुलिस के वाहनों और क्रेनों पर कब्जा कर लिया है। कई जगहों पर पुलिस बेबस नजर आ रही है। वहीं चिल्ला बॉर्डर पर स्टंट करते वक्त दो ट्रैक्टरों के पलटने की भी सूचना है। ट्रैक्टर पलटने के बाद कुछ देर अफरा-तफरी का माहौल रहा।

दिल्ली के तीनों ही बॉर्डर पर भारी हंगामा देखने को मिला। इस बीच कई जगहों पर पुलिस को लाठीचार्ज करना पड़ा। इस बीच किसान नेता राकेश टिकैत ने कहा कि किसान शांतिपूर्ण रैली निकाल रहे हैं। उन्होंने कहा कि किसान तय रूट पर ही परेड करेंगे। टिकैत ने कहा कि सरकार अगर किसानों की मांगें मान ले तो वे वापस चले जाएंगे। कई जगहों पर बैरिकेड की आड़ में पुलिस छिप गई और फिर किसानों को हटाया गया। किसानों ने आश्वासन दिया था कि यह परेड शांतिपूर्ण होगी लेकिन पुलिस के साथ लगातार टकराव की स्थिति बन रही है।

एनएच-24 पर ट्रैक्टर के साथ अन्य वाहन भी तिरंगा झंडा लगाए हुए दिखाई दे रहे हैं। करनाल बाइपास पर किसानों के साथ पुलिस की झड़प इसलिए हुई क्योंकि किसान लालकिले की तरफ जाना चाहते थे लेकिन पुलिस इससे इनकार कर रही थी। बड़ी संख्या में किसान पैदल भी नई दिल्ली की तरफ जा रहे हैं। लोग लालकिला और कश्मीरी गेट की तरफ भी जा रहे हैं। पुलिस ने किसानों से आधे घंटे इंतजार करने को कहा था लेकिन तब तक किसान बैरिकेड तोड़कर आगे निकल गए। किसान मोर्चा ने ट्रैक्टर की इजाजत ली थी लेकिन कई तरह के वाहन दिल्ली में प्रवेश कर रहे हैं।