साल भर में जिले की कुपोषण दर में हुई 8 प्रतिशत की कमी

0
172

रायपुर । मुख्यमंत्री भूपेश बघेल आज महिला एवं बाल विकास विभाग अंतर्गत मुख्यमंत्री सुपोषण अभियान के तहत आयोजित कार्यक्रम में शामिल हुये। उन्होंने कहा कि कुपोषण मुक्ति के लिये हमें सभी बच्चों एवं महिलाओं तक सुपोषण की पहुंच बनानी होगी। मुख्यमंत्री बघेल ने कहा कि कुपोषण मुक्ति अभियान व एनीमिया मुक्त करने के लिये जिले में उल्लेखनीय प्रयास हुये है। कुपोषण दर में 8 प्रतिशत की उल्लेखनीय कमी आयी है। लेकिन केवल इतने से ही हमें संतुष्ट नहीं होना है। इस अभियान की सार्थकता तभी सिद्ध होगी जब सभी बच्चे कुपोषण मुक्त हो जायेंगे। मुख्यमंत्री बघेल ने इस अवसर पर जिले के 203 ग्राम पंचायत व वार्ड जो शत-प्रतिशत कुपोषण मुक्त हो चुके है, उनके सरपंच व पार्षदों को प्रशस्ति पत्र देकर सम्मानित किया।

कलेक्टर भीम सिंह ने कार्यक्रम में प्रतिवेदन के माध्यम से मुख्यमंत्री सुपोषण योजनान्तर्गत अब तक हुये कार्यों की जानकारी दी। उन्होंने बताया कि डीएमएफ मद से सुपोषण योजना के 13 करोड़ 82 लाख रुपये की प्रशासकीय स्वीकृति प्रदाय की गई है। योजना की शुरूआत के समय जिले में कुपोषण का दर 23 प्रतिशत था जो वर्तमान में घटकर केवल 15 प्रतिशत रहा गया है। आंगनबाड़ी केन्द्र में स्व-सहायता समूह के माध्यम से पोषण आहार की आपूर्ति की जा रही है, जिससे जिले में स्थानीय स्तर पर स्व-सहायता समूह को रोजगार मिला है। डीएमएफ मद से द्वितीय किश्त की राशि 2 करोड़ 30 लाख रुपये जिला कार्यक्रम अधिकारी को प्रदाय किया गया। इस अवसर पर कृषि मंत्री एवं जिले के प्रभारी मंत्री रविंद्र चौबे, उच्च शिक्षा मंत्री उमेश पटेल, विधायक लालजीत सिंह राठिया, विधायक प्रकाश नायक, विधायक श्रीमती उत्तरी गनपत जांगड़े, जिला पंचायत अध्यक्ष निराकार पटेल एवं महापौर जानकी बाई काटजू आदि उपस्थित थे।