छत्तीसगढ़ सुकमा एनकाउंटर पर CRPF डी जी का बयान, कहा 21 जवान लापता, 5 हो चुके हैं शहीद

0
202

छत्तीसगढ़ सुकमा एनकाउंटर अपडेट: छत्तीसगढ़ के जिला बीजापुर के सुकमा मुठभेड़ को लेकर सीआरपीएफ के महानिदेशक (डीजी) कुलदीप सिंह ने अपडेट दिया है। रविवार (04 अप्रैल) को मीडिया से बात करते हुए सीआरपीएफ डीजी कुलदीप सिंह ने कहा है कि सुकमा एनकाउंटर के बाद से 21 सुरक्षाकर्मी लापता हैं, जिसमें ये 7 सुरक्षाकर्मी सीआरपीएफ के हैं। कुलदीप सिंह रविवार की सुबह ऑपरेशनल कार्य और स्थिति का जायजा लेने के लिए छत्तीसगढ़ पहुंचे हैं। इस घटना में अब तक 5 जवान शहीद हो गए हैं। हालांकि हताहत की संख्या में इजाफा भी हो सकता है। जानकारी के मुताबिक सुकमा में शनिवार (03 अप्रैल) को हुए नक्सली हमले में जान गंवाने वाले 5 में से 2 जवान सीआरपीएफ के हैं । 31 घायलों में से 16 घायल जवान भी सीआरपीएफ के हैं।

9 नक्सली मारे गए हैं और 15 घायल: रिपोर्ट

घायल 31 सुरक्षाकर्मियों में से 23 जवानों को बीजापुर अस्पताल में और 8 को रायपुर के अस्पताल में इलाज के लिए एडमिट कराया गया है। जान गंवाने वाले 5 जवानों में से 2 जवानों के शव बरामद किए गए हैं। आईजी बस्तर पी सुंदरराज ने शुरुआती जानकारी के बाद मीडिया को बताया है कि मुठभेड़ में कम से कम 9 नक्सली मारे गए हैं और 15 घायल हैं। मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक मुठभेड़ में 250 नक्सली शामिल थे।

जानिए नक्सलियों ने कब और कैसे किया हमला?

बस्तर रेंज में पिछले 10 दिनों में सुरक्षा बलों पर ये दूसरा बड़ा हमला है। स्पेशल टास्क फोर्स, सीआरपीएफ की कोबरा कमांडो टीम और डिस्ट्रिक्ट रिजर्व गार्ड तीनों फोर्स के लगभग 400 जवान मिलकर ज्वाइंट ऑपरेशन के तहत शुक्रवार (02 अप्रैल) को माओवादियों के खिलाफ बीजापूर सुकमा इलाके में गश्त कर रहे थे। उसी दौरान शनिवार (03 अप्रैल) को माओवादियों ने सुरक्षा बलों पर घात लगाकर हमला किया। जिसके बाद मुठभेड़ शुरू हो गई। अधिकारी ने कहा कि रायपुर से करीब 400 किलोमीटर दूर सुकमा और बीजापुर की सीमा पर तरन क्षेत्र के जंगलों में मुठभेड़ हुई है।

जगदलपुर लाया गया जवान का शव

डीआईजी (नक्सल ऑपरेशन) ओ.पी. पाल ने बताया कि नक्सल विरोधी अभियान में बीजापुर जिले के तर्रेम, उसूर और पामेड़ से तथा सुकमा जिले के मिनपा और नरसापुरम से लगभग दो हजार जवान शामिल थे. नक्सलियों के साथ हुई मुठभेड़ में जान गंवाने वाले सीआरपीएफ की कोबरा बटालियन के एक जवान के पार्थिव शरीर को आज जगदलपुर लाया गया.

गृह मंत्री ने किया नमन

गृह मंत्री अमित शाह (Amit Shah) ने घायल हुए जवानों के जल्द स्वस्थ होने की कामना करते हुए और शहीदों के परिवारों के प्रति संवेदना प्रकट करते हुए कहा है, ‘छत्तीसगढ़ में नक्सलियों से लड़ते हुए शहीद हुए हमारे बहादुर सुरक्षाकर्मियों के बलिदान को नमन करता हूं. राष्ट्र उनकी वीरता को कभी नहीं भूलेगा. मेरी संवेदना उनके परिवारों के साथ है. हम शांति और प्रगति के इन दुश्मनों के खिलाफ अपनी लड़ाई जारी रखेंगे.’

गृह मंत्री ने की सीएम से बात

सूत्रों के मुताबिक केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह ने कल सुकमा-बीजापुर सीमा पर सुरक्षा बलों पर नक्सली हमले के संबंध में छत्तीसगढ़ के सीएम भूपेश बघेल से बात की. सीआरपीएफ के महानिदेशक को स्थिति का जायजा लेने के लिए गृह मंत्री द्वारा छत्तीसगढ़ जाने के लिए कहा गया है: बता दें, इस वर्ष मार्च माह की 23 तारीख को नक्सलियों ने नारायणपुर जिले में बारूदी सुरंग में विस्फोट कर बस को उड़ा दिया था. इस घटना में बस में सवार डीआरजी के पांच जवान शहीद हो गए थे.