बर्ड फ्लू का कहर: दंतेवाड़ा और बस्तर में बर्ड फ्लू की पुष्टि

0
140

दंतेवाडा । छत्तीसगढ़ के दंतेवाड़ा जिले में बर्ड फ्लू की पुष्टि हो गई। जिले के बचेली में मृत पाए गए कौए के सैंपल में एवियन इन्फ्लूएंजा वायरस पाए गए हैं। इसकी पुष्टि करते हुए उप संचालक पशुधन विभाग डा. अजमेर सिंह कुशवाह ने कहा है कि मंगलवार को इलाके के सभी मुर्गे-मुर्गियों को दफनाया जाएगा। उधर बालोद जिले के गिधाली में रविवार को एक हजार मुर्गियों और 32 कबूतरों को दफनाया गया। इससे पहले शनिवार को बर्ड फ्लू की आशंका में यहां 10 हजार मुर्गियों को दफनाया गया था। इस क्षेत्र के घर-घर में मुर्गियों की सघन जांच की जा रही है।

दंतेवाड़ा जिले के किरंदुल और बचेली में पिछले दिनों मृत कौए मिले थे। जिनका सैंपल जांच के लिए लैब भेजा गया था। इसके साथ ही एक जंगली कबूतर, तोता, मुर्गे-मुर्गियों के भी सैंपल भेजे गए हैं। बचेली के वार्ड नंबर 16 में 14 जनवरी को एक कौआ मरा मिला था। जिसका शव विभाग ने कब्जे में लेने के बाद सैंपल को लैब भेजा था। फिलहाल इसी कौए के सैंपल में बर्ड फ्लू की पुष्टि हुई है।

किरंदुल से भेजे गए मृत कौए के सैंपल की रिपोर्ट नहीं आई है, जबकि पड़ोसी जिला बस्तर से भेजे गए तीन सैंपल में दो की रिपोर्ट पाजिटिव आई हैं। आइटीआइ बस्तर के कबूतर और जगदलपुर के पवार हाउस चौक में मृत मिले कौए के सैंपल भी पाजिटिव हैं।