छह लोगों की मौत की घटना से सबक ले कांग्रेस सरकार:डा विमल चोपड़ा

0
162

महासमुंद। बुधवार की रात लगभग साढ़े नौ बजे शहर से लगे ग्राम बेमचा के एक ही परिवार के छह लोगों ने शराबी पति व पिता से तंग आकर रेलवे पटरी पर आत्महत्या कर ली। इस घटना की जानकारी होने पर घटनास्थल पर भाजपा चिकित्सा प्रकोष्ठ के प्रदेश संयोजक डा विमल चोपड़ा भाजपा नेताओं के साथ पहुंचकर दर्दनाक घटना की जानकारी ली। इसके अलावा मचकुरी सेंटर भी पहुंचे थे, जिससे ज्ञात हुआ कि एक ही परिवार से मां व पांच बेटियों ने पटरी पर लेट कर अपनी जिंदगी गवा दी। जानकारी हुई कि पति शराबी था व रोज शराब पीकर घर में लड़ाई झगड़ा करता था। रात में झगड़े व मारपीट से तंग आकर मां व बेटियों ने ऐसी खौफनाक घटना को अंजाम दिया।

विमल चोपड़ा ने इस विभत्सकारी दिल दहलाने वाली घटना के लिए कांग्रेस की सरकार को पूर्ण रूप से दोषी मानते हुए कहा कि छत्तीसगढ़ प्रदेश की ऐसी पहली दुखद घटना है, कि पति के शराब से तंग आकर एक ही परिवार के छह लोगों ने रेलवे पटरी में आत्महत्या कर ली है। कांग्रेस की सरकार ने घर-घर शराब सप्लाई कर शराब का जाल बिछाया, जो बड़ा कारण है। चारों तरफ गली-गली में शराब का खजाना खोले हुए हैं, जबकि कांग्रेस ने सरकार में आने के पहले हाथ में गंगाजल लेकर कसम खाई थी, कि सरकार बनने पर पूर्ण शराबबंदी तत्काल की जाएगी। डा विमल ने मृतकों के प्रति गहरी संवेदना व्यक्त की है।

छह लोगों ने की खुदखुशी, संसदीय सचिव ने जताया शोक

संसदीय सचिव एवं विधायक विनोद सेवनलाल चंद्राकर ने जिला मुख्यालय में बेमचा के एक परिवार के छह लोगों की खुदखुशी की घटना पर गहरा शोक व्यक्त किया है। उन्होंने मामले की निष्पक्ष जांच करने के निर्देश भी दिए हैं। गुरूवार की सुबह जिला मुख्यालय से लगे रेलवे पटरी पर छह लोगों की ट्रेन से कटकर आत्महत्या करने की जैसे ही खबर मिली वैसे ही संसदीय सचिव चंद्राकर घटनास्थल पर पहुंचे। उन्होंने मौके पर उपस्थित सिटी कोतवाली प्रभारी शेरसिंह बंदे से मामले की जानकारी ली। जिस पर सिटी कोतवाली प्रभारी ने बताया कि प्रथमदृष्टया मामला पारिवारिक विवाद के चलते आत्महत्या का प्रतीत हो रहा है। वहीं संसदीय सचिव चंद्राकर ने इस घटना को हृदय विदारक बताते हुए कहा कि यह सभी को झकझोर देने वाली है। उन्होंने शोक जताते हुए भावभीनी श्रद्धांजलि अर्पित की है।