अस्थाई विसर्जन कुंड में विसर्जन का सिलसिला जारी, नगर निगम की विसर्जन व्यवस्था 23 सितंबर दोपहर 2 बजे तक रहेगी जारी

0
212

रायपुर । राजधानी शहर के महादेवघाट में निर्मित अस्थाई विसर्जन कुंड सहित विभिन्न तालाबों में अस्थाई विसर्जन कुंडों में आज भी निरन्तरता से प्रथम पूज्य देव भगवान श्रीगणेश की मूर्तियों के पूजन पश्चात श्रद्धापूर्वक विसर्जन का सिलसिला जारी है।

महादेवघाट खारून नदी के किनारे अस्थाई विसर्जन कुंड में विगत चार दिनों से निरंतर दिन भर विसर्जन का दौर चल रहा है। आज सुबह तक लगभग 8080 छोटी मूर्तियां एवं लगभग 665 बड़ी मूर्तियां महादेवघाट के अस्थाई विसर्जन कुंड में विसर्जित की जा चुकी हैं । यह क्रम निरंतर अभी भी महादेवघाट के अस्थाई विसर्जन कुंड में जारी है।

नगर निगम आयुक्त प्रभात मलिक ने महादेवघाट के अस्थाई विसर्जन कुंड की प्रशासनिक व्यवस्था के अंतर्गत अब विसर्जन व्यवस्था हेतु लगाई गयी ड्यूटी को दिनांक 23 सितम्बर 2021 को दोपहर 2 बजे तक के लिये बढ़ाने का आदेश जारी किया। साथ ही कोरोना प्रोटोकॉल नियमों का पूर्ण पालन सावधानी के साथ करने एवं साथ ही माननीय नेशनल ग्रीन ट्रिब्यूनल के मूर्ति विसर्जन हेतु जारी सभी दिशा- निर्देशों, छत्तीसगढ़ शासन के पर्यावरण विभाग एवं रायपुर जिला प्रशासन द्वारा जारी समस्त निर्देशों का कड़ाई से पूर्ण व्यवहारिक पालन सुनिश्चित करवाने सम्बंधित अधिकारियों को निर्देशित किया है।

विभिन्न तालाबों में विसर्जन के अस्थाई कुंडों में श्रद्धालुओं ने उत्साह के साथ श्री गणेश की छोटी मूर्तियों का घरों से उन्हें ससम्मान लाकर पूजन करके विसर्जन किया एवं श्रद्धालुजन राजधानी शहर में नदी एवं तालाबों को प्रदूषण से सुरक्षित रखने पर्यावरण संरक्षण की दृष्टि से प्रत्यक्ष सहभागिता दर्ज करवाते दिखे।

नगर निगम के जोन 8 की स्वास्थ्य विभाग की टीम द्वारा आज भी निरंतरता से सुबह महादेवघाट के अस्थाई विसर्जन कुंड में विशेष टीम भेजकर सेनेटाईजर स्प्रे करवाया गया। मूर्ति विसर्जन के दौरान जोन 8 की विशेष टीम ने निरंतर सफाई करवाई। फागिंग अभियान चलाया गया। श्रद्धालुओं में श्रीगणेश मूर्ति विसर्जन के दौरान निरन्तरता के साथ श्रद्धा और उत्साह राजधानी शहर रायपुर में स्पष्ट परिलक्षित हो रहा है।