स्वामी विवेकानंद विमानतल पर छह साल से खड़ा बांग्लादेशी विमान,बांग्लादेशी विमान की नीलामी में होगी अभी और देरी

0
234

रायपुर ।  छत्तीसगढ़ की राजधानी रायपुर के स्वामी विवेकानंद विमानतल पर पिछले छह साल से खड़े बांग्लादेशी विमान की नीलामी में अभी और देरी होगी। कानूनी सलाह लेने के बाद रायपुर विमानतल अथारिटी ने बांग्लादेशी विमानन कंपनी को जवाब देने के लिए 15 दिन का समय और दिया है। कंपनी से जवाब मिलने के बाद इस विमान की नीलामी की प्रक्रिया शुरू हो जाएगी।

अधिकारियों के अनुसार बांग्लादेशी विमानन कंपनी ने रायपुर अथारिटी से कोरोना का हवाला देते हुए कहा था कि कोरोना खत्म होने तक उन्हें समय दिया जाए। इस पर रायपुर विमानतल अथारिटी ने इन्कार करते हुए सिर्फ 15 दिन का समय और दिया है। रायपुर विमानतल अथारिटी के निदेशक राकेश सहाय ने बताया कि कंपनी का जवाब आने का इंतजार किया जा रहा है। उसके बाद नीलामी की प्रक्रिया भी शुरू की जाएगी। सहाय ने बताया कि बांग्लादेशी फ्लाइट का किराया अभी तक पौन दो करोड़ रुपये तक पहुंच गया है।

पचास से अधिक बार लिखा जा चुका पत्र

रायपुर विमानतल अथारिटी ने बीते छह सालों में बांग्लादेशी विमानन कंपनी को फ्लाइट के संबंध में पचास से अधिक बार पत्र और ईमेल कर चुकी है। इस साल फरवरी में बांग्लादेशी कंपनी भी इस फ्लाइट के नीलामी को तैयार हो गई। इसके बाद रायपुर विमानतल अथारिटी ने कानूनी सलाहकारों से राय लेनी शुरू की।

यह हुई थी घटना

सात अगस्त, 2015 की शाम को बांग्लादेशी फ्लाइट के इंजन में आई खराबी की वजह से स्वामी विवेकानंद विमानतल में उसकी आपात लैंडिंग करवाई गई थी। इस फ्लाइट के 176 यात्रियों को अगले दिन यानी आठ अगस्त को विशेष विमान से भेजा गया था। वर्ष 2019 में बांग्लादेशी विमानन कंपनी के अधिकारी आए भी थे और इस फ्लाइट को 300 मीटर खिसकाया गया था। उस दौरान कंपनी के अधिकारियों ने कहा था कि जल्द ही इस फ्लाइट को ले जाया जाएगा।