दंपत्ति हत्या की सुलझी पहेली, हत्या में शामिल 10 आरोपी गिरफ्तार

0
94

दतेवाड़ा। दंतेवाड़ा जिले के मुरकी गांव में दंपती की हत्या की पहेली को पुलिस ने सुलझा ली है। हत्या में शामिल 10 आरोपियों को कोतवाली पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया है। मुरकी गांव निवासी इन सभी आरोपियों ने गांव के डबरी के पास कुल्हाड़ी और चाकू से वार कर पति-पत्नी की हत्या की थी। आरोपियों ने बताया कि उन्होंने वारदात को इसलिए अंजाम दिया क्योंकि रामा ने एक कार्यक्रम के दौरान टंगिया लेकर उन्हें दौड़ाया था।

सूचना के मुताबिक, 17 अक्टूबर को 55 वर्षीय रामा ओयाम और 45 वर्षीय उसकी पत्नी मासे ओयाम का शव गांव की डबरी के पास मिला था। परिजनों ने इस बात की सूचना पुलिस को दी थी। पुलिस आरोपियों की तलाश में जुटी थी। इसी बीच 24 अक्टूबर को पुलिस को पता चला कि रामा का विवाद गांव के लोगों से ही हुआ था। इसके बाद ही उसकी और उसकी पत्नी की हत्या हुई है।सभी नाचते-गाते राम ओयाम के घर पहुंचे

पुलिस ने गांव के 10 लोगों को पूछताछ के लिए बुलाया था। सख्ती से पूछताछ करने पर आरोपियों ने बताया कि 16 अक्टूबर को गांव में नवाखाई त्योहार मनाया जा रहा था। उस दौरान गांव के लोग नाच, गाना में व्यस्त थे। सभी नाचते-गाते राम ओयाम के घर गए थे। तभी रामा ने ग्रामीणों को टंगिया लेकर मारने के लिए दौड़ाया था। आरोपियों ने 17 अक्टूबर को वारदात को उस वक्त अंजाम दिया था, जब रामा ओयाम और उसकी पत्नी मासे गांव से पटेलपारा की ओर जा रहे थे। आरोपियों ने बताया कि वे वहां पर पहले से ही मौजूद थे। मौका मिलते ही सभी ने मिलकर पहले रामा और उसकी पत्नी की हत्या कर दी। सभी ने मिलकर पहले दोनों के सिर पर टंगिया से वार किया था। फिर चाकू से गला रेतकर दोनों की हत्या कर दी थी। दंपती की हत्या में मुरकी के रहने वाले सोमारू मंडावी, रमेश मंडावी, सुरेश ओयाम, लक्ष्मण ओयाम, सुखनाथ कोहरामी, फागु कोर्राम, जयराम मुचाकी, पांडू उर्फ माहरु, सुखराम मिडियामी व जोगा शामिल थे। पुलिस के सामने सभी ने अपना जुर्म भी कबूल कर लिया है।