भाजपा सरकार की राह पर पनपा नशा माफिया के तबाह होने पर रमन को हो रही पीड़ा: सुशील आनंद शुक्ला

0
56

रायपुर । कांग्रेस ने मुख्यमंत्री द्वारा राज्य में हुक्का बार पर प्रतिबंध लगाने का स्वागत किया है। प्रदेश कांग्रेस संचार विभाग के अध्यक्ष सुशील आनंद शुक्ला ने कहा कि मुख्यमंत्री के इस आदेश से राज्य की तरूणाई जो नशे के गर्त में जा रही थी उस पर विराम लगेगा। हुक्का बार बंद करने के साथ गांजा और मादक पदार्थो की एक पत्ती भी राज्य में नहीं आने देने की मुख्यमंत्री की दृढ़ता उनकी युवाओं के स्वास्थ्य और उनके भविष्य की चिंता को बताता है। पूर्ववर्ती रमन सरकार ने बड़े पैमाने पर हुक्का बार का लाइसेंस देकर राज्य के युवाओं के स्वास्थ्य और उनके भविष्य के साथ खिलवाड़ किया था। एक साथ बड़े पैमाने पर लाईसेंस लेकर खोले गये हुक्का बारों को बंद करने का मुख्यमंत्री भूपेश बघेल का निर्णय एक साहसिक निर्णय है। हुक्का बार के शिकार बच्चें और किशोर थे। रमन सरकार ने भाजपा नेतओं को उपकृत करने के उद्देश्य से आने वाली पीढ़ी के भविष्य की चिंता किये बिना हुक्का बार का लाईसेंस दिया था।

प्रदेश कांग्रेस संचार विभाग के अध्यक्ष सुशील आनंद शुक्ला ने कहा कि डॉ. रमन सिंह हुक्का बार को बंद किये जाने के मुख्यमंत्री के निर्णय में भी भीन भेख निकाल कर बयान बाजी कर रहे। इससे साफ हो रहा कि हुक्का बार और नशे के कारोबार बंद किये जाने के राज्य सरकार के निर्णय से वे असहमत है। रमन सिंह का असहमत होना स्वाभाविक भी है। 15 साल तक उनके राज में पनपा नशा माफिया जो हुक्का बार चलाता था, गांजे और अन्य मादक पदार्थो का कारोबार करता था। वह इस एक निर्णय से सड़क पर आ गया। प्रदेश के लाखों अभिवावक मुख्यमंत्री के इस साहसिक निर्णय के लिये उनका अभिनंदन करते है।

प्रदेश कांग्रेस संचार विभाग के अध्यक्ष सुशील आनंद शुक्ला ने कहा कि मुख्यमंत्री द्वारा जिम्मेदार पुलिंसिंग और कानून व्यवस्था को मजबूत करने के लिये उठाये गये कदम सराहनीय है। ढाई साल से जमे अधिकारियों, कर्मचारियों के तबादले से पुलिस जनता के प्रति और जवाबदेह होगी। आदिवासियों के विरूद्ध दर्ज प्रकरण वापसी के कार्य को त्वरित गति से पूरा करने के मुख्यमंत्री के निर्देश से लोगो को बड़ी राहत मिलेगी साथ ही चिटफंड कंपनियों के फरार डायरेक्टर व पदाधिकारियों की गिरफ्तारी से लोगों के डूबे पैसे वापस मिलेंगे। इंटरनेट मीडिया में अफवाह फैलाने वालों पर हो कड़ी कार्रवाई के निर्णय से समाज में अफवाह फैलाने वालों पर लगाम कसेगी।