महमसुन्द बिग ब्रेकिंग.. देशी शराब भट्टी में हुई लूट,24 घण्टे के भीतर ही आरोपी गिरफ्तार

0
79

महासमुंद तुमगांव गाड़ाघाट के शराब भट्टी का पूर्व सेल्समेन ही निकला घटना का मास्टरमाईड़ , दुकान के सेल्समेन और अपने दोस्तो के साथ मिलकर दिया घटना को अंजाम । दिनांक 17.10.2020 को लगभग 11:00 बजें प्रार्थी मनीष गुप्ता सुपरवाईजर शासकीय देशी शराब दुकान गाड़ाघाट तुमगांव द्वारा थाना तुमगांव में दिनांक 17.10.2020 को सूचना दिया उनके साथ तीन अज्ञात नकाबपोशों ने प्रातः 11:00 बजें लूट – पाट कर देशी शराब भट्टी के बिकी के पैसा 11,52,000 रूपयें ले गया है । दिनदहाड़े लूट की घटना तत्काल समस्त जिले के थाना / चौकी प्रभारियों को उक्त लूट की घटना के बारे में बताकर नाकेबंदी करने हेतु निर्देश दिया गया एवं तत्काल सायबर सेल की टीम एंव थाना तुमगावं की टीम को आरोपियों का पता तलाश कर पकड़ने हेतु निर्देशित किया । सायबर सेल व थाना तुमगांव का टीम मौके पर पहुचकर घटना की विस्तृत जानकारी लेकर प्रार्थी मनीष गुप्ता सुरवाईजर देशी शराब दुकान गाड़ाघाट से पूछताछ किया तो बताया कि वह प्रतिदिन के भांति प्रातः 08:00 बजें शराब दुकान खोला तथा शराब बिकी के अंग्रेजी शराब दुकान के लॉककर में रखे हुये पैसे 11,52,000 रूपयें को बैग में रखकर बैंक में जमा कराने हेतु महासमुंद के लिए मोटर सायकल से निकला था कि नहर किनारे खड़े तीन नकाबपोश व्यक्ति ने शराबी का हुलिया बनाकर लड़खड़ाते हुये मुझसे आ टकराया । जिसमें मनीष लड़खड़ाकर नहर किनारे गिरपड़ा , मनीष गुप्ता के मोटर सायकल से गिरने पर आरोपियों ने उसपर मिर्ची पाउडर से हमला कर रूपये से भरा बैग लूटने लगा । प्रार्थी द्वारा पैसे को लूटने से बचाने हेतु आरोपियों के साथ झुमाझपटी किया किन्तु मिर्ची पाउडर आंख में लगने और कुछ दिखाई नहीं देने की वजह से आरोपी बैंग लेकर फरार होने में कामयब हो गया । इस दौरान प्रार्थी द्वारा मद्द के लिए आवाज लगाये लेकिन सुनसान ईलाका होने के वजह से कोई मद्द के लिए उपस्थित नही हो पाये । सायबर सेल की टीम गाड़ाघट गांव के आसपास के लोगो से पूछताछ किया तो लोगो ने मोटर सायकल में तीन व्यक्ति को नहरे की ओर जाते देखा बताया । जिसपर तत्काल प्रार्थी एवं अन्य आधार से प्राप्त जानकारी के अनुसार आरोपिगण के हुलियो व घटना के बाद जाने वाले रास्ते पर उक्त टीम सीसीटीव्ही फुटेज व अन्य तकनिकी मद्द से यह पता चला की उक्त आरोपी घटना पश्चात् समोदा की ओर बढ़े है एवं टीम द्वारा उक्त घटना के संबंध में अन्य जानकारी प्राप्त करने पर यह पता चला की उक्त दुकान में ही पूर्व में काम करने वाला विजय मनहर विगत दिन – चार दिनों से उक्त शराब भट्टी के आसपास घुमता हुआ देखा गया है एवं उसके साथ अन्य तीन – चार लोग भी दिखे थे , जोकि महासमुंद जिले के नही थे । तभी पता चला की प्रार्थी मनीष गुप्ता से विजय मनहर का पूर्व से वाद – विवाद हुआ । जिसके चलते आरोपी विजय मनहर द्वारा प्रार्थी मनीष गुप्ता को नुकसान पहुचाने का प्लान बना रहा था । तभी विजय मनहर जोकि पूर्व में उक्त शराब भट्टी में सेल्समेन के रूप में काम कर चुका है । वह अच्छे से जानता है कि शराब दुकान में रखाया पैसा सुपरवाईजर कब जमा करने जाता है व किस रास्ते से जाता है । तभी विजय मनहर उक्त शराब दुकान में कार्य करने वाले सेल्समेन राहुल नंदे व राजेश कुमार जांगड़े को भी अपने प्लान में शामिल कर मनीष गुप्ता को लूटने का प्लान बनाया और अपने पहचान के रहने वाले देवगांव थाना खरोरा के रहने वाले धनीराम घृतलहरे उर्फ धनी व योगेश घृतलहरे व अमर घृतलहरे को भी अपने प्लान में शामिल किया , जिसपर से उक्त सभी लोग एक सुनियोजित प्लान के तहत मनीष गुप्ता को पैसा जमा कराने जाते समय लूटने का प्लान कियें कल दिनांक जैसे ही मनीष गुप्ता शराब बिकी की रकम 11,52,000 रूपयें को बैंग में भरकर जमा कराने के लिए निकला तभी सेल्समेन राहुल नंदे व राजेश द्वारा नहर वाले रास्ते में पहले से ही खड़े व वहा पर रेकी कर रहे विजय मनहर को बताया । विजय जोकि पहले से ही नहर के किनारे वाले रास्ते में खड़ा था और मनीष गुप्ता के आने का इंतजार कर रहा था और वही से कुछ दूरी पर विजय मनहर के रायपुर से आये दोस्त धनीराम घृतलहरे उर्फ धनी व योगेश घृतलहरे व अमर घृतलहरे जोकि लूटने के लिए उस रास्ते में खड़े थे । उनको इशारे में बताया कि मनीष गुप्ता आ चुका है फिर तभी मौके का फायदा उठाकर उक्त तीनो व्यक्ति मनीष को उसके मोटर सायकल के साथ गिराकर गिरने के बाद उसके आंख में लाल मिर्च पाउडर डालकर के मनीष के पास रखे 11,52,000 रूपयें को लूटकर ले गया । घटना पश्चात् आरोपिगण समोदा के रास्ते अपने – अपने घर चले गये व लूटे गये रकम को आपस में बांट लिये । जिसें सायबर सेल , थाना तुमगावं की टीम विभिन्न स्थानों पर छापेमारी पर आरोपियों को गिरफ्तार किया गया ।

यह सम्पूर्ण कार्यवाही पुलिस अधीक्षक प्रफुल्ल कुमार ठाकुर के निर्देशन में अनु 0 अधिकारी ( पु ) महासमुंद नारद सूर्यवंशी के मार्गदर्शन में थाना तुमगांव प्रभारी केशव कोसले , सायबर सेल प्रभारी संजय सिंह राजपूत , प्रआर प्रकाश नंद , सतीश शर्मा , मिनेश ध्रुव , प्रवीण शुक्ला आर . शुभम पाण्डेय , चम्पलेश ठाकुर , रवि यादव , विरेन्द्र नेताम , शैलेष ठाकुर , देव कोसरिया , दिनेश साहू , अजय जांगड़े , लाल कुर्रे आदि द्वारा
की गई..

आरोपियों का नाम
01. विजय मनहरे पिता मोतीलाल मनहरे उम्र 31 वर्ष सा 0 परसवानी थाना खरोरा जिला रायपुर ।
02. राजेश कुमार जांगड़े पिता सुखराम जांगड़े उम्र 23 वर्ष सा 0 ग्राम जोगीडीपा थाना पटेवा ।
03. राहुल नंदे पिता पुरूषोत्तम नंदे उम्र 27 वर्ष ग्राम जोगीडीपा थाना पटेवा ।
04. धनीराम उर्फ धनी पिता सरजू प्रसाद घृतलहरे उम्र 26 वर्ष सा 0 देवगांव थाना खरोरा जिला रायपुर ।
05. योगेश पिता खुलास घृतलहरे उम्र 22 वर्ष सा . देवगांव थाना खरोरा जिला रायपुर
06. अमर पिता प्रकाश घृतलहरे उम्र 22 वर्ष सा . देवगांव थाना खरोरा जिला रायपुर

। जप्त सामग्री 01. नगदी 11,52,000 रूपये । 02. घटना में प्रयुक्त मोसा o CG 04MC2971 डिलक्स , CG 04HJ 8782 होण्डा साईन ।