एक ऐसा मंदिर जहां भगवान की नहीं महिलाओं के स्तन की होती है पूजा…देखकर होगी हैरानी

0
267

दुनिया में आपको तरह-तरह के मंदिर देखने को मिलेंगे। दुनिया में ऐसे कई मंदिर हैं जो अपनी अजीबोगरीब रिवाजों के कारण मशहूर है।दुनियाभर में ऐसे कई मंदिर है जहां लोग भगवान के साथ-साथ जीव जंतुओं की पूजा करते हैं। लेकिन यह जानकर आप भी चौंक जाएंगे कि एक मंदिर ऐसा भी है जहां लोग स्तनों (ब्रेस्ट) की पूजा करते हैं। ब्रेस्ट की पूजा करने के पीछे का कारण भी बेहद दिलचस्प है।

कहां है यह मंदिर

दुनिया भर में मशहूर जापान मैं यह मंदिर स्थित है। यह मंदिर दुनियाभर में काफी मशहूर है। जापान के इस मंदिर में भगवान की बजाय ब्रेस्ट की देवी छिछिगमीसम की पूजा की जाती है ।यह मंदिर जापान में इतना मशहूर है कि बड़ी संख्या में महिलाएं यह स्तन वाली देवी की पूजा करने पहुंचती हैं।

इस मंदिर की मान्यता

जापान के इस मंदिर में स्तन की पूजा करने के पीछे भी एक बड़ा और खास कारण है।दरअसल यह पूजा महिलाओं को स्तन कैंसर से बचाने और सुरक्षित प्रेगनेंसी के लिए की जाती है। जी हां.. इसी वजह से यह मंदिर दुनिया भर में प्रसिद्ध है।

मंदिर में हर चीज है स्तन जैसी

इस मंदिर में जहां भी नजर जाती है वहां सिर्फ स्तन  ही नजर आते हैं। ऐसा इसलिए क्योंकि यहां रुई और कपड़े के बने स्तनों से मंदिर की सजावट की गई है। यहां तक कि इस मंदिर में बने फव्वारों का आकार भी स्तन के समान ही है। मंदिर में घर की सजावट में हर चीज का आकार स्तन के समान ही है यहां तक की झूमर भी उसी के समान हैं। इस मंदिर में चारों तरफ और हर जगह ब्रेस्ट ही ब्रेस्ट नजर आते हैं।

महिलाएं चढ़ाती हैं ब्रेस्ट

लोक कब और कहां किसकी पूजा करने लगे यह कोई नहीं जान सकता। एक अनोखे मंदिर का निर्माण जहां किसी भगवान या ग्रह की पूजा नहीं बल्कि महिलाओं के ब्रेस्ट की पूजा होती है। इस मंदिर में महिलाओं की मान्यता पूरी हो जाने के पश्चात महिलाएं मंदिर में आकर ब्रेस्ट चढ़ाती हैं। डमी के आकार के ब्रेस्ट या रूई या कपड़े के आकार के ब्रेस्ट यहां पर मन्नत पूरी होने के बाद चढ़ाए जाते हैं।

क्या है इसके पीछे की कहानी

रिपोर्ट की मानें तो यह पूजा प्रेगनेंसी और कैंसर से बचने के लिए की जाती है यह मंदिर ब्रेस्ट की देवी छिछिगामिसामा का माना जाता है। देवी औरतों के स्वास्थ्य से संबंधित परेशानियों को दूर करती हैं। इसके पीछे एक कहानी प्रचलित है कहां जाता है कि कई सालों पहले वाकायामा शहर की एक डॉक्टर नहीं है ब्रेस्ट कैंसर से जूझ रही एक पेशेंट के लिए प्रार्थना की थी और देवी के सामने स्तन चढ़ाए थे। जिसके बाद वह पेशेंट ठीक हो गई थी। उसी के बाद यहां ब्रेस्ट चढ़ाने की प्रथा चली आ रही है।