किसी भी इंसान को खुश करने के लिए आजमाएं यह 4 तरीके

0
44

आपने सुना होगा कि खुशी अंदर से आती है लेकिन यह हमेशा सच नहीं होता. व्यक्ति की खुशी का कारण कोई और भी हो सकता है और यह कारण आप भी हो सकते हैं. खुशी छोटी-छोटी चीजों में पाई जा सकती है. इसलिए आप छोटी कोशिशों से भी अपने दोस्त, फैमिल मेंबर या किसी जानकार को खुश कर सकते हैं. हर कोई चाहता है कि उन्हें उनके चाहने वाले उन्हें प्यार करें और उनकी खुशियों का ध्यान रखें. अगर आप वास्तव में लोगों को खुश रखना चाहते हैं तो हमेशा उन्हें  सकारात्मक चीजों के लिए प्रोत्साहित करें. कई लोग दूसरों को खुश तो रखना चाहते हैं, लेकिन उन्हें इस बात की जानकारी नहीं होती है कि आखिर किसी को खुश करने के लिए किया क्या जाए. आइए जानते हैं इससे जुड़ी कुछ बातें.

किसी को खुश करने के असरदार टिप्स 

1. पार्टी प्लान करें- अगर आप किसी अपने को खुश करना चाहते हैं, तो आप उनके लिए पार्टी प्लान कर सकते हैं. उनके कुछ खास दोस्तों और चाहने वालों को भी आप बुला सकते हैं. ऐसा करने से कम से कम उनके चेहरे पर एक छोटी-सी मुस्कान जरूर ला सकते हैं. इसके अलावा आप उनकी पसंदीदा चीजों को भी उस पार्टी का हिस्सा बना सकते हैं, जैसे- गेम्स, फेवरेट फूड्स.

2. उनकी बातों को सुनें- कई बार इंसान इसलिए भी दुखी होता है, क्योंकि उन्हें ऐसा लगता है कि उनकी बातों को सुनने और समझने वाला कोई नहीं है. तो ऐसे में आप उन्हें खुश करने के लिए उनकी बातें चुपचाप सुनें. उन्हें इस बात का भरोसा दिलाएं कि आप उनके लिए उपलब्ध हैं. वो अपने दिल की बात आपसे कर सकते हैं. ऐसा करने से न सिर्फ उनका मन हल्का होगा बल्कि उन्हें खुशी भी होगी.

3. गिफ्ट दें-  अगर आप किसी अपने को एक सरप्राइज गिफ्ट देते हैं, तो इससे उनके चेहरे पर आप एक अलग सी खुशी देख पाएंगे. लेकिन सबसे पहले आप गिफ्ट के बारे में विचार करें. कुछ ऐसा दें, जो उनके काम का हो या फिर कुछ ऐसा, जिसे देखकर वो अपने सारे दुख भूल जाएं.

4. उन्हें थैंक यू कार्ड दें- अगर आप अपनों को एक सिंपल सा थैंक यू कार्ड देते हैं, तो इससे उन्हें अच्छा महसूस होगा और खुशी भी होगी कि आप उन्हें कितना सराहते हैं. कई बार लोगों को ऐसा लगता है कि थैंक यू कार्ड केवल शिक्षकों या वृद्ध लोगों के लिए होता है, लेकिन किसी दोस्त को थैंक यू बोलना उन्हें खुश महसूस कराने का एक सार्थक और अनूठा तरीका हो सकता है.

यहां दी गई जानकारी किसी भी चिकित्सीय सलाह का विकल्प नहीं है. यह सिर्फ शिक्षित करने के उद्देश्य से दी जा रही है.